किसान आंदोलन के दौरान पुलिस कारवाई में मारे गए किसानों के परिजनों को सांत्वना देने मंदसौर पहुंचे मुख्य्मंत्री शिवराज सिंह ने आज 1-1 करोड़ रूपये की राशि के चेक बांटे, वहीँ दुसरी और बालाघाट जिले में एक और किसान ने खुदखुशी कर ली.

आत्महत्या करने वाले किसान का नाम रमेश बसेने है. जिस पर  करीब दो लाख रुपए का कर्ज था. रमेश ने स्थानीय सहकारी सोसायटी से यह कर्ज लिया था.बताया जा रहा है कि रमेश मात्र 50 डिसमिल जमीन का मालिक था और उस पर होने वाली उपज से वह 1.5 लाख रुपए का कर्ज चुकाने में असमर्थ था.

और पढ़े -   कोहराम की खबर का हुआ असर, कथित शिवसेना नेता ने किया प्रोफेसर का घर खाली

इसके अलावा मुख्यमंत्री के पैतृक जिले सीहोर की रेहटी तहसील के जाजना गांव में 52 साल के दुलीचंद ने कथित तौर पर जहर खाकर जान दे दी. परिजनों के मुताबिक, दुलीचंद कर्ज की वजह से परेशान थे. साथ ही होशंगाबाद जिले की सिवनी मालवा तहसील के भैरूपुर गांव में 68 साल के माखनलाल ने कर्ज से परेशान होकर फांसी लगाकर जान दे दी.

और पढ़े -   बिहार: गौरक्षकों ने पहले मुस्लिमों की पिटाई, फिर भी पीड़ितों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

इसकेे अलावा विदिशा के हरिसिंह जाटव ने कथित तौर पर कर्ज की परेशानी और पटवारी के जमीन सीमांकन में किए फर्जीवाड़े से आहत होकर जहर खाकर जान दे दी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE