अलीगढ़ । बीते सप्ताह झारखण्ड के लातेहार जिले में कथित तोर पे दो पशु व्यापारियों की हत्या के विरोध में अमुवि छात्रों ने एक पीस मार्च का आयोजन किया तथा एडिशनल सिटी मजिस्ट्रेट दित्य को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर घटना के दोषियों को सजा देने की मांग की गयी ।

AMU-Protest

छात्रों ने दिनाक 22 मार्च को शाम 7 बजे लाइब्रेरी कैंटीन से बाबे सय्यद गेट तक मार्च निकला । छात्रों के हाथो में पोस्टर थे जिसपे बीफ कारोबार बंद करो, दोहरी नीति बंद करो, आदि नारे लिखे थे ।

बाबे सय्यद गेट पे पहुँच कर सीनियर छात्र अब्दुल क़ादिर पाशा रिसर्च स्कॉलर कानून संकाय के नेतृत्व में राष्ट्रपति के नाम लिखित ज्ञापन को सिटी मजिस्ट्रेट और प्रॉक्टर प्रोफ. मोहसिन खान की मौजूदगी में पढ़कर सुनाया ।

ज्ञापन में छात्रों ने मांग की हैं कि हिन्दुस्तान में बीफ कारोबार को बंद किया जाए तथा गाय रक्षा के लिए केंद्र सरकार एक मजबूत कानून का गठन करे जिसे रोज़ रोज़ गोरक्षा के नाम पर होने वाली हत्याएं रुकनी चाहिए व् मृतक आश्रितो के परिवार को 25 – 25 लाख रुपए मुआवजा मिलना चाहिए ।

इस ज्ञापन की प्रितिलिपि छात्रों ने उपराष्ट्रपति, भारत मुख्य न्यायाधीश, गृह मंत्री के साथ साथ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के चेयरमैन श्री एच० एल० दत्तू को भी भेजी । छात्रों ने उम्मीद जताई कि राष्टीय मानवाधिकार आयोग इस सिलसिले उचित कार्यवाई करेगा ।

इस मौके पर रिसर्च स्कॉलर मोहम्मद जावेद, फैज़ुल हसन, इमरान खान ग़ांधी, शांशाह खान. लियाकत खान, जानिब हसन, मोहम्मद अहमद, ज़ैद शेरवानी, पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष उमर क़ादरी आदि मौजूद रहे । (lokbharat)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें