पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को शहीद जेसीओ परमजीत सिंह के घर जाकर उनके परिवार से मुलकात की. इस दौरान उन्होंने उनके बेटे और बेटी को नौकरी देने की भी घोषणा की.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पढ़ाई पूरी होने के बाद सैनिक की 16 वर्षीय बेटी सिमरनदीप कौर की नियुक्ति नायब तहसीलदार और बेटे साहिलदीप सिंह (12) की नियुक्ति सहायक पुलिस उप निरीक्षक के पद पर करेगी.

और पढ़े -   गोरखपुर मामले में एक पिता का दर्द - स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ पुलिस ने नहीं की शिकायत दर्ज

कैप्टेन सिंह ने कहा कि हम इस परिवार को पहले ही सहायता के तौर पर यह कह चुके हैं कि वह 5 लाख या तरनतारन में प्लाट ले सकते हैं और परिवार वालों ने उन्हें कहा है कि वह तरनतारन में प्लाट लेने के इच्छुक हैं तो सरकार उनको तरनतारन में एक प्लाट ले कर देगी.

कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा कि शहीदों के परिवार वालों के साथ जो भी वादे किये गए हैं वे सारे पूरे किए जाएंगे. कैप्टेन सिंह ने कहा कि विधानसभा में शहीदों के परिजनों के लिए बिल पास किया जायेगा. उसमें शहीदों के परिवारों के लिए मुआवजा निश्चित किया जायेगा.

और पढ़े -   जानिए: चांद खान के बारे में, जो हर साल घर पर लहराते है तिरंगा

गौरतलब है कि पाकिस्तान के विशेष बलों ने एक मई को पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के करीब 22 सिख रेजिमेंट के जवान परमजीत सिंह का सिर काट दिया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE