अलीगढ़ जनपद के केशोपुर झोपड़ी गांव में हुए ठाकुरों और दलितों के बीच जातीय संघर्ष के बाद  प्रशासन की मुसीबतें बढ़ गई है. हाल ही में दलितों ने ठाकुरों के खिलाफ कारवाई न करने का आरोप लगाते हुए इस्लाम धर्म अपनाने की धमकी दी थी.

दलितों ने न केवल धमकी दी थी, बल्कि हिन्दू धर्म का त्याग करते हुए हिन्दू धर्म से जुडी चीजों विशेषकर देवी-देवताओं की तस्वीरों को नाले में बहा दिया था. लेकिन अब ठाकुरों ने भी प्रशासन को दलितों के खिलाफ कारवाई न करने का आरोप लगाते हुए इस्लाम धर्म अपनाने की धमकी दी है.

और पढ़े -   AMU के बाब-ए-सैयद पर वंदे मातरम् के साथ दक्षिणपंथियों ने की गोलीबारी

सोमवार को ठाकुर समाज के लोग बड़ी संख्या में पहले बरौली विधानसभा से विधायक ठाकुर दलवीर सिंह के पास गए और अपनी आप बीती सुनाई., उसके बाद सभी लोग एसएसपी दफ्तर पहुँचे औए कहा कि अगर धर्म परिवर्तन से फायदा मिलता है, तो वह भी खुद को इंसाफ के लिए धर्म परिवर्तन करने को तैयार हैं. उनका कहना था कि दलितों के दबाव में उन पर कोई गलत कार्रवाई न की जाए.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश: शिवराज के मंत्री ने किया स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रध्वज का अपमान

गौरतलब रहें कि 16 मई को गांव में एक नाली बनाने को लेकर सवर्ण व दलित आमने-सामने आ गए थे. इस दौरान दोनों पक्षों की ओर से तोड़फोड़ पथराव के बाद फायरिंग की गयी थी. एकतरफा कारवाई से नाराज दलितों के इस्लाम धर्म अपनाने की धमकी के बाद प्रशासन सकते में आ गया. ऐसे में ठाकुरों को कारवाई का डर सता रहा हैं.

और पढ़े -   दीजिए मुबारकबाद: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के 11 छात्र बनेंगे जज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE