मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पार्टी के विधायक रामपाल यादव पर कानूनी कार्रवाई कर गुंडई के खिलाफ एक जोरदार कदम उठाया हैं. उन्होंने रामपाल यादव को पार्टी से 6 साल के लिए बाहर कर दिया है.

रामपाल यादव पर कार्रवाई कर अखिलेश ने पार्टी के ‘गुंडों’ को दिया संदेश

सीतापुर के बीसवां से विधायक रामपाल यादव गुंडई, अवैध निर्माण, और कब्ज़ा करने में प्रसिद्ध थे. रामपाल यादव के खिलाफ कार्रवाई कर मुख्यमंत्री ने पार्टी नेताओ को स्पष्ट सन्देश दिया कि जो कोई भी अब ऐसा करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा. रामपाल यादव ने राजधानी लखनऊ समेत सीतापुर में कई अवैध निर्माण करवाए हैं. साथ ही रामपाल खनन माफिया भी हैं.

गुरुवार को एलडीए द्वारा लोहियापथ के पास बन रही अवैध काम्प्लेक्स को गिराए जाने के विरोध में विधायक ने सचिव के साथ मारपीट की थी और रिवाल्वर लहराए थे. जिसके बाद विधायक और उनके समर्थकों के खिलाफ हत्या का प्रयास, बवाल और अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था. आज लखनऊ कोर्ट ने विधायक रामपाल यादव और उनके नौ समर्थकों की जमानत याचिका ख़ारिज करते हुए उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें