kundanika

लखनऊ । पिछले महीने भाजपा छोड़ समाजवादी पार्टी में शामिल हुई आगरा पार्षद कुंदनिका शर्मा को समाजवादी पार्टी ने आगरा उत्‍तर विधानसभा सीट से टिकट दिया है। कुंदनिका ने मार्च में विश्‍व हिंदू परिषद के एक कार्यकर्ता की हत्‍या के बाद भड़काऊ बयान दिया था। इस मामले में उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था।

लेकिन सपा में आने से 8 महीने पहले ही अखिलेश यादव सरकार ने उन पर लगे 11 केस वापस लेने की तैयारी शुरू कर दी थी। उनके के खिलाफ आगरा के अलग-अलग थानों में 18 मामले दर्ज थे। ये मामले धरना-प्रदर्शन और दंगों के से सबंधित थे।

राज्‍य सरकार द्वारा पिछले 6 महीनों में ही ये मामले वापस ले लिए गए हैं। ’राज्‍य सरकार ने पिछले आठ महीने में कुंदनिका शर्मा से 11 केस वापस लेने का आदेश दिया है। अब तक कोर्ट चार केस वापस लेने की अर्जियां स्‍वीकार कर चुका है जबकि सात अभी पेडिंग हैं। वहीं चार अन्‍य मामलों में पुलिस ने उनके खिलाफ क्‍लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी है।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें