action should be against who want to destroy image of amu

अलीगढ। स्टूडेंट एक्शन कमिटी के सदसयो ने मौलाना आज़ाद लाइब्रेरी कैंटीन पर एक मीटिंग की जिसमे आज कुछ बाहरी तत्वों द्वारा मानव संसाधन विकास मंत्री का पुतला जाने की निंदा की गई! कमिटी ने कहा की पुतला फुकना अपनी बात को कहने का एक मात्र उपाय नही है अपनी बात को सभय तरीके से रखना चाहिए। अगर किसी ने भविष्य में यूनिवर्सिटी का नाम इस्तेमाल कर इसे बदनाम करने की कोशिश की तो कमिटी इसके खिलाफ आंदोलन करेगी।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आज यूनिवर्सिटी सर्किल पर शहज़ाद बरनी ने अपने कुछ साथियो के साथ मिलकर हैदराबाद यूनिवर्सिटी में हुई रोहित की मौत को लेकर स्मिृति ईरानी का पुतला जलाया.. इससे छात्रों में एक रोष पैदा हो गया..छात्रों का कहना है कि बरनी यूनिवर्सिटी से सस्पेंड हैं.. वो सपा सरकार के इशारे पे यह सब काम कर रहे हैं जिसे यूनिवर्सिटी की इमेज को नुक्सान हो रहा है. कमिटी ने मांग की ह। यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन जल्द से जल्द ऐसे लोगो के खिलाफ सख्त करवाई करे. चाहें वो यूनिवर्सिटी से जुड़े लोग हो या बाहर वाले..!!

और पढ़े -   बीजेपी महिला नेता ने मुस्लिम लड़के के साथ दिखने पर हिन्दू लड़की को पीटा

कमिटी के लीगल एडवाइजर अब्दुल क़ादिर पाशा का कहना है कि कमिटी को रोहित कि मौत का दुःख है. और जो लोग भी मौत के ज़िम्मेदार हैं उनके खिलाफ सख्त करवाई होनी चाहिए . लेकिन आज एक महीना बाद पुतला जलना एक बहुत ही निंदनीय बात है। इससे यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन और और केंद्र सरकार के बीच फासला बढ़ रहा है जो यूनिवर्सिटी के लिए नुक्सान साबित हो सकता है।

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

कमिटी के कन्वेनर शिकोह मोहम्मद का कहना है कि यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन को ऐसे लोगो के खिलाफ सख्त करवाई करनी चाहिए जो यूनिवर्सिटी कि इमेज को बदनाम करने में लगे हुए है। वरिष्ठ छात्र नेता मोहम्मद ज़ोरेज़ का कहना है कि शहज़ाद बरनी यूनिवर्सिटी से ससपेंड छात्र है। इस तरह के कामो को अंजाम देकर वो यूनिवर्सिटी छत्रो का इस्तेमाल कर वो यूनिवर्सिटी के नाम को बदनाम केर रहे हैं। लिहाजा यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन को इसके खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए जिससे भविष्य में कोई यूनिवर्सिटी कि इमेज को बदनाम न करे।

और पढ़े -   इस्लाम अपनाने पर हुई थी फैजल उर्फ अनिल की हत्या, अब पिता ने भी अपनाया इस्लाम

.इस मौके पर कमिटी के कन्वेनर फहीम अख्तर, इमरान खान, मंज़ूर खान, जुनैद अली खान, जानिब हसन, शुएब खान, अमानी वज़ीर, लियाक़त खान, असलम खान , अब्दुल कदर गौर, हाशिम खान आदि उपस्थित हुए।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE