shiv

राज्य की बेटियों के ‘मामा’ बनने का दावा करने वाले मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शासन में राज्य के बेटियां देश भर में सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं. इसका खुलासा नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की वर्ष 2015 की ताजा रिपोर्ट में हुआ हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य में देश में सबसे ज्यादा 4391 महिलाएं दुष्कर्म का शिकार बनी हैं.

रिपोर्ट के अनुसार देश के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दुष्कर्म की 34,651 वारदातें हुई हैं. इनमें सबसे ज्यादा वारदातें 4,391 मध्य प्रदेश में हुई हैं. आंकड़ों पर गौर करें तो एक बात साफ हो जाती है कि राज्य में औसतन हर रोज 12 युवतियां दुष्कर्म का शिकार बन रही हैं. वहीं एक वर्ष में राज्य में 57 मामले दुष्कर्म की कोशिश के दर्ज किए गए हैं और यौन उत्पीड़न के 12,887 प्रकरण दर्ज किए गए हैं.

और पढ़े -   मदरसे के वाटर टैंक में मिलाया ज़हर, शहर की फ़िज़ा बिगाड़ने की साज़िश

एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार, इसी अवधि में महाराष्ट्र में 4,144, राजस्थान में 3,644, उत्तर प्रदेश में 3,025 दुष्कर्म के मामले दर्ज किए गए. देश में लक्ष्यद्वीप ऐसा राज्य (केंद्र शासित) है, जहां न तो दुष्कर्म का कोई मामला दर्ज हुआ और न दुष्कर्म के प्रयास का ही.

इसके अलावा मध्यप्रदेश अन्य अपराधों में मामलें में भी स्थिति अच्छी नहीं है. एनसीआरबी के अनुसार, राज्य में एक वर्ष में 2,339 हत्याएं हुई हैं और 2,590 हत्या के प्रयास किए गए हैं. इससे जाहिर होता है कि राज्य में हर रोज औसतन छह हत्याएं हो रही हैं.

और पढ़े -   पूर्व कांस्टेबल अब्दुल क़दीर का हुआ निधन, दंगाईयों का साथ देने वाले वरिष्ठ अधिकारी की ली थी जान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE