हिंगौनिया गोशाला में चारा घोटाले के मामले में एसीबी ने 7 और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपियों को एसीबी की टीम ने शाम को विशिष्ट न्यायाधीश, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम क्रम-1 की अदालत में पेश किया। जहां से सभी 7 आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। मामले में अगली सुनवाई 13 अप्रैल को होगी।

गिरफ्तार आरोपियों में गौ संवर्धन परिषद कार्यकर्ता राधेश्याम सैनी, जेठाराम चौधरी, रोशन तंवर, महेन्द्र सैनी, घनश्याम सैनी, रमेश तंवर, राजेंद्र कुमार शामिल है।

गौरतलब है कि इस मामले में बुधवार को इस मामले में एसीबी ने नगर निगम के वरिष्ठ पशुचिकित्सक कैलाश मोढ़े को गिरफ्तार किया था, जो अभी न्यायिक अभिरक्षा में है।

हिंगोनिया गोशाला में पांच साल में 20 करोड़ रुपए के चारा घोटाला मामले में पशु चिकित्सक की गिरफ्तारी के बाद एसीबी ने बुधवार देर रात को ही इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया।  ब्यूरो की टीम लगभग एक दर्जन ठेकेदारों को पकड़ कर एसीबी दफ्तर लेकर पहुंची। इनसे पूछताछ के बाद 7 को गिरफ्त में ले लिया गया।

एसीबी की इस कार्रवाई से नगर निगम व गोशाला प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है। ठेकेदारों की गिरफ्तार के बाद अब चारा घोटाले की परत दर परत कलई खुलने की संभावना है।

एडिशनल एसपी बजरंग सिंह ने बताया कि चारा घोटाले के मामले में गोशाला में चारे की सप्लाई करने वाले 7 ठेकेदारों को दबोचा गया है। (rajasthanpatrika)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें