पुरे देश में कर्ज में डूबे किसानों का आत्महत्या करने का सिलसिला बादस्तूर जारी है. बावजूद इसके मोदी सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है. एक बार फिर से किसान की आत्महत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जिसके तहत एक किसान ने पहले तो पुरे परिवार की गला रेतकर हत्या कर दी और फिर खुद भी फांसी पर झूल गया.

और पढ़े -   गिरफ्तारी से बचने के लिए स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी अस्पताल में भर्ती, बलात्कार का है आरोप

मामला छत्तीसगढ़ के बालोद का है. जहाँ गुंडरदेही ब्लॉक स्थित ग्राम देवरी में गोविंद राम देशलहरे उम्र 45 वर्ष ने पहले 3 बच्चे और पत्नी की घर में बंद कर धारदार हथियार से हत्या की उसके बाद खुद ने भी फांसी लगा ली.

इस दौरान उसके पुत्र जीतेश, बेटी पल्लवी तथा पत्नी दुर्गा बाई की मौके पर ही मृत्यु हो गई. हालांकि बड़ी बेटी शालिनी की जान बच गई. लेकिन उसकी हालत गंभीर  बताई जा रही है. शालिनी को  रायपुर के मेकाहारा अस्पताल भेजा गया है.

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

 घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने केस दर्ज कर विवेचना शुरु कर दी है. पुलिस के अनुसार घटना के समय हत्या करने वाले की भांजी योगेश्वरी भी घर में मौजूद थी. हालांकि उसे एक कमरे में बंद कर गोविंद राम ने बारी-बारी से सभी को मौत के घाट उतारकर खुद आत्महत्या कर ली.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE