उत्तरप्रदेश में अपराध पर लगाम लगाने के वादे के साथ सत्ता में आई योगी सरकार अपने वादे पर अमल नहीं कर पाई है. शुरूआती दो महीनों में प्रदेश में 803 बलात्कार और 729 मर्डर की घटनाएं है. जो योगी सरकार के दावो की पोल खोलती है.

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने प्रश्नकाल के दौरान सदन को बताया, ‘‘इस साल 15 मार्च से नौ मई के बीच प्रदेश में हत्या की 729, रेप की 803, लूट की 799, अपहरण की 2682 और डकैती की 60 वारदाते हुईं.’’

और पढ़े -   गुजरात: फिर सामने आया ऊना कांड, दलित युवक और महिला की नग्न कर पिटाई

सुरेश खन्ना ने कहा कि हत्या के 67.16 प्रतिशत मामलों में कार्रवाई की गई है, वहीं बलात्कार के मामलों में यह आंकड़ा 71.12 फीसदी, अपहरण के मामलों में 52.23 फीसदी, डकैती के मामलों में 67.05 फीसद और लूट के मामलों में 81.88 फीसदी है.

उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा इन मामलों में से तीन के अभियुक्तों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का पालन किया गया है. गैंगस्टर एक्ट के मामलों में 126 और गुंडा एक्ट के मामलों में 131 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है.’’

और पढ़े -   मोदी के सर्कुलर को ठुकराकर बोली ममता सरकार - भाजपा से देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE