वन विभाग के अधिकारियों ने लिखित परीक्षा पास करने वाली विजयश्री विश्नोई को दौड़ में हिस्सा लेने से रोका था, लेकिन महिला ने चिकित्सक से स्वास्थ्य प्रमाण पत्र लाकर अधिकारियों को दे दिया और दौड़ में हिस्सा लेने की मांगी की। इससे भी बात नहीं बनी तो ख़ुद लिख कर दे दिया वो अपनी इच्छा से इस दौड़ में हिस्सा ले रही है। विजयश्री ने हौसले को उम्मीदों के पंख लगाए और रेस पकड़ ली। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय परिसर में लगी दौड़ को पूरे 3 घंटे 35 मिनट में आठ माह की गर्भवती विजयश्री विश्नोई ने पूरा कर लिया।

और पढ़े -   शिवराज के गृहनगर में फिर किसान ने की आत्महत्या, 8 दिनों में 12 किसानों ने दे दी अपनी जान

विजयश्री विश्नोई ने बताया कि उनके पति ने भी दौड़ में हिस्सा लेने से रोका था, लेकिन कुछ अलग करने की इच्छा से उन्होंने दौड़ लगाना ज़रूरी समझा। उपवन सरंक्षक मनाली सैन ने बताया कि 1 से 3 मार्च तक आयोजित वनपाल और वन रक्षक परीक्षा में वनपाल के लिए 154 पुरुष, 126 महिला अभ्यर्थी और वन रक्षक के लिए 36 महिला अभर्थियों ने शारीरिक दक्षता व पैदल चाल परीक्षा में भाग लिया है। (eenaduindia)

और पढ़े -   शमशान में इलाज के बहाने तांत्रिक ने किया था महिला से बलात्कार, मिली 7 साल की सजा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE