प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकास के दावों की पोल बीजेपी शासित राज्यों में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में होने वाली बच्चों की मौतों ने खोल कर रख दी है.

यूपी के गोरखपुर फिर फरुखाबाद में, झारखंड के जमशेदपुर में, छत्तीसगढ़ के रायपुर, मध्यप्रदेश के शहडोल और विदिशा में बच्चों की मौत के मामले सामने आ चुके है. ये सभी मामले स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव और लापरवाही के चलते पेश आये है. जिनमे आक्सीजन की कमी प्रमुख कारण रही है.

और पढ़े -   पीड़ित लड़की ने की उस जगह की तस्दीक, जहां स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी ने किया था बलात्कार

इसी के साथ अब बीजेपी शासित महाराष्ट्र के नासिक के जिला अस्पताल में 55 बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. अगस्त महीने में 350 नवजात बच्चों को इलाज के लिए यहां भर्ती कराया गया था लेकिन इनमें से 55 बच्चों की मौत हो गई. सिर्फ यही नहीं, बल्कि पिछले 5 महीनों में कुल 187 बच्चों की मौत हो चुकी है.

मामले का खुलासा करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता एजाज पठान का आरोप है कि नासिक के जिला अस्पताल में छोटे बच्चों के लिए जो वेंटिलेटर मशीन चाहिए वो एक भी नहीं है. कुपोषित इलाकों से जो बच्चे आते हैं, उनके इलाज की व्यवस्था नहीं है.

इस बारें में कांग्रेस प्रवक्ता संजय निरुपम ने कहा कि करोड़ों रुपए अपने प्रचार पर मोदी सरकार खर्च करती है. लेकिन बच्चों को बुनियादी चिकित्सा सुविधा नहीं मुहैया करा रहे हैं. वहीं एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि इन बच्चों की मौत के लिए बीजेपी सरकार जिम्मेदार है और स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने दी हजारों चकमा और हजोंग शरणार्थियों को नागरिकता, जल उठा अरुणाचल प्रदेश

इस्तीफे की मांग पर स्वास्थ्य मंत्री दीपक ने कहा की विपक्ष का काम है इस्तीफा मांगने का, लेकिन सरकार स्वास्थ्य विभाग में बहुत अच्छा काम कर रही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE