chag

मध्यप्रदेश के ग्वालियर में एक मरीज को 500 का नोट लेकर इलाज कराने के लिए डॉक्टर के पास जाना महंगा पड़ गया. डॉक्टर फीस में 500 रु का नोट देखकर आगबबूला हो गया और मरीज के साथ अभद्रता की.

दरअसल, आरके शिवहरे शिंदे की छावनी में मनोचिकित्सक डॉ. मुकेश चंगुलानी के पास अपने बेटे का इलाज कराने पहुंचे थे. शिवहरे ने डॉक्टर को फीस के लिए 500 रु का पुराना नोट दिया. नोट देखते ही उनका गुस्सा सातवे आसमान पर पहुँच गया और उन्होंने 500 का नोट फेंक दिया.

और पढ़े -   महाराष्ट्र में देनी होगी कुर्बानी की पूरी जानकारी, BMC लाई स्पेशल 'बकरा ऐप'

शिवहरे ने डॉक्टर को दुसरे नोट न होने की भी वजह बताई साथ ही उन्होंने सरकारी आदेश का हवाला देते हुए अस्पतालों में पुराने नोटों के चलन की बात भी कही. जिस पर डॉ. चंगुलानी ने शिवहरे और उनके बीमार बेटे को क्लीनिक से बाहर निकाल दिया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इलाज करा लो.

इसके मामले की शिवहरे ने कलेक्टर और एसपी को भी शिकायत की जिस पर डॉ. चंगुलानी ने कहा कि सरकार ने इमरजेंसी सेवाओं में पुराने नोट देने की बात कही है और मेरा इलाज इमरजेंसी के दायरे में नहीं आता है, क्योंकि निजी प्रैक्टिस करता हूं.

और पढ़े -   राष्ट्रगान ना गाने पर योगी सरकार करेगी मदरसों पर एनएसए के तहत कार्रवाई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE