शिवराज सरकार द्वारा राज्य के कटनी के एसपी गौरव तिवारी के  ट्रांसफर के खिलाफ आज हजारों लोग सड़कों पर उतर गए. इसके साथ ही आज पूरा शहर भी बंद रहा.

दरअसल, 500 करोड़ के हवाला लेनदेन की जांच कर रहे गौरव तिवारी का का ट्रांसफर कटनी से छिंदवाड़ा कर दिया गया हैं.  तिवारी एक्सिस बैंक समेत कई बैंकों में फर्जी खातों से 500 करोड़ रुपए के हवाला लेन-देन की जांच कर रहे थे. तिवारी ने ही इस हवाला कारोबार की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया था.

4 जनवरी को एसआईटी की जांच में घोटाले के सबसे बड़े सूत्रधार सरावगी बंधुओं के नाम सामने आए थे. इनके चार नौकरों के नाम से कई बोगस कंपनियां बनाई गईं थीं. इन बोगस कंपनियों के खातों से करीब 100 करोड़ रुपए के संदिग्ध लेन-देन की बातें सामने आ चुकी हैं.
6 जनवरी तक सरावगी के दो नौकर संदीप बर्मन और संजय तिवारी को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने पूछताछ में सरावगी के राज्य सरकार में मंत्री संजय पाठक के रिश्तेदारों से नजदीकियों की बात बताई थी. ये ट्रांसफर इस मामलें में संजय पाठक का नाम सामने आने के बाद किया गया हैं.
गौरव तिवारी के सपोर्ट में पूरा कटनी शहर बंद रहा. यहां के सुभाष चौक पर हजारों की तादाद में लोग इकट्ठा हुए. पूरा बाजार भी बंद रहा. लोगों ने तिवारी का ट्रांसफर रद्द करने की मांग की. ये बंद आम जनता की और से बुलाया गया था.
और पढ़े -   BMC ने मुंबई के स्कूलों में वंदे मातरम को गाना किया अनिवार्य

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE