गुजरात विधानसभा के चुनावों की तारीखे नजदीक आती जा रही है. इसी के साथ निर्वाचन आयोग ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है. लेकिन इन तैयारियों को उस समय बड़ा झटका लगा जब राज्य के चुनावों में इस्तेमाल होने वाली 3550 वीवीपीएटी (वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनो को खराब पाया गया.

ध्यान रहे राज्य में विधानसभा चुनाव के दौरान करीब 75 हजार EVM मशीन का इस्तेमाल होना है. इन  साथ VVPET (वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीन भी लगी हुई होगी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, 3550 वीवीपीएटी में से अधिकतर जामनगर, देवभूमि द्वारका और पाटन जिले में खराब पाई गईं. अब चुनाव आयोग ने मतदान के दौरान खराब हो जाने वाली वीवीपीएटी को बदलने के लिए 4150 अतिरिक्त मशीनों मंगाई हैं.

इस बारें में गुजरात के मुख्य चुनाव आयुक्त बीबी स्वाईं ने कहा कि खराब मशीनों को उनके कारखाने में वापस भेजा जाएगा. जिन मशीनों में मामूली तकनीकी खराबी है उन्हें दुरुस्त किया जा सकता है.

ध्यान रहे चुनाव परिणामो में गड़बड़ी की आशंका के चलते गुजरात की पाटीदार नेता रेशमा पटेल ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दाखिल कर EVM के साथ VVPET लगाकर ही चुनाव कराने की मांग की थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE