बरेली – उत्तर प्रदेश में एक बस के अंदर महिला के साथ बलात्कार करने के बाद उसे और उसके 14 साल के बेटे को नीचे फेंक दिए जाने की घटना में बुधवार को पुलिस के सामने एक चश्मदीद आई है। महिला की 3 साल की बेटी ने इस पूरी घटना को देखा। बच्ची डरकर बस की एक सीट के पीछे छुप गई थी और उसने वहीं से इस खौफनाक अपराध को होते हुए देखा। बच्ची ने ही बरेली पुलिस को इस घटना की जानकारी दी। बच्ची ने पुलिस को बस के चालक और कंडक्टर द्वारा किए गए क्रूर अपराध के बारे में बताया।

woman-gang-raped-on-up-bus-child-dies-in-assault

दोनों आरोपियों ने महिला के साथ गैंगरेप करने से पहले उसे जबरन शराब भी पिलाई। सोमवार रात को शीशगढ़ गांव में हुई इस वारदात के बाद शराब के असर के कारण महिला 3 घंटे तक पड़ी रही। वारदात की जानकारी सामने आने पर जब पुलिसकर्मियों ने पीड़ित महिला का बयान लेना चाहा, तो उन्हें कुछ भी याद नहीं आ रहा था। ऐसे में महिला की 3 साल की बच्ची ने पुलिस और अपने पिता को पूरी वारदात के बारे में बताया। हुआ यूं था कि घटना के समय बच्ची बस के एक कोने में छुप गई थी। वहां से उसने पूरी घटना होते हुए देखी थी।

बरेली (ग्रामीण) के एसपी यमुना प्रसाद ने बुधवार को बताया, ‘यह वारदात उस समय हुई जब बस में बैठे बाकी यात्री उतर गए। हमने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 376 डी (सामूहिक बलात्कार) और धारा 304 (हत्या करने की कोशिश) के तहत मामला दर्ज किया है। हमने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। हमने उन दोनों पर गैंगस्टर ऐक्ट भी दर्ज किया है।’

पीड़िता रामपुर की रहने वाली है। पास ही में स्थित खापूरिया गांव में एक पारिवारिक आयोजन में शरीक होकर वह सोमवार रात घर लौट रही थीं। जब वह अपना स्टॉप आने पर उतरने लगीं, तो कंडक्टर ने कहा कि वह उन्हें उनके घर पर उतार देगा। कंडक्टर पास ही के गांव का रहने वाला है। जैसे ही बस में बैठे बाकी यात्री उतर गए चले गए, वैसे ही चालक और कंडक्टर दोनों महिला के साथ बदसलूकी करने लगे। जब महिला ने विरोध किया, तो दोनों आरोपियों ने जबरन उनके मुंह में शराब डाल दी। आरोपियों ने महिला के 14 साल के बेटे को भी बस से फेंक दिया। उसकी वहीं मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, महिला की 3 साल की बेटी भी साथ में सफर कर रही थी। उसने खुद को एक सीट के पीछे छुपा लिया था और वह वहीं से पूरी वारदात देखती रही। जब दोनों आरोपी उसकी बेहोश मां को गाड़ी से उतार कर सड़क पर रखने लगे, तो बच्ची चुपचाप बस से उतरी और नीचे ऐसी जगह पर छुप गई जहां आरोपी उसे नहीं देख सके। मंगलवार सुबह जब महिला के पति कुछ ग्रामीणों को साथ लेकर अपनी पत्नी और बच्चों को खोजते हुए वहां आए, तो उन्होंने बेटी को अपनी बेहोश पत्नी के पास बैठे हुए देखा। पास में उनके बेटे की लाश पड़ी थी।

ऑल इंडिया डेमोक्रैटिक विमिंज़ असोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष मधु गर्ग ने इस वारदात के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा, ‘यह वारदात दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप से ज्यादा क्रूर है। आरोपियों ने पीड़िता के 14 साल के बेटे की हत्या भी कर दी। इसके बावजूद दोनों आरोपियों पर हत्या का मामला दर्ज नहीं किया गया है। अगर दोनों आरोपियों पर बच्चे की हत्या के लिए मामला दर्ज नहीं किया जाता है, तो हम विरोध करेंगे।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें