उत्तरप्रदेश में योगी सरकार के गठन के साथ ही प्रदेश में दलितों, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के मामलें सामने आये है. ऐसे में अब दलितों ने योगी सरकार के खिलाफ मौर्चा खोल दिया है. कल ही लाखों दलितों ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर हिंदू धर्म त्यागने की धमकी दी थी.

अब अलीगढ़ में करीब दो हजार दलितों ने धमकी दी है कि ठाकुर समुदाय के हाथों उनका शोषण नहीं रुका तो इस्लाम अपना लेंगे. रविवार को केशोपुर झोपड़ी गांव के हजारों दलितों ने हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को नाले में बहा दिया. इससे पहले मुरादाबाद और संभल से भी दलितों द्वारा इस्लाम अपनाए जाने की धमकी दी जा चुकी है.

और पढ़े -   बच्चों को बचाने वाले डॉ कफील को योगी सरकार ने पद से हटाया

दलितों का कहना है कि 16 मई को गांव में ही एक नाली बनाने को लेकर उनका सवर्ण समुदाय के लोगों से विवाद हो गया था. नाली जानबूझ कर उनके घर, मंदिर की ओर निकाली जा रही है, जिसका विरोध करने पर सवर्ण समुदाय के लोगों ने उनके घरों में घुस कर मारपीट की थी.

स्थानीय दलित नेता बंटी सिंह ने कहा कि इतनी बड़ी तादाद में दलित समुदाय के लोगों ने इस्लाम अपनाने का फैसला ऊंची जाति के भेदभावपूर्ण रवैये के कारण किया है. ऊंची जाति के लोग दलितों को हिंदू समजा का हिस्सा नहीं मानते और हमारे लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं. दलितों के लिए यही बेहतर होगा कि वे धर्म परिवर्तन का रास्ता अपनाएं.’

और पढ़े -   मराठवाड़ा में रोज दो से तीन किसान कर रहे आत्महत्या: सरकारी रिपोर्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE