ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ व हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी यूपी की सियासत में नए समीकरण बनाने के लिए तैयार हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुवे ओवैसी ने संगठन को मजबूत करने के किये काफी समय पहले ही कोशिश शुरु कर दी थी. जिसका नतीजा आज सबके सामने हैं.

एआईएमआईएम के नेता शादाब चौहान के अनुसार नवम्बर 2015 तक यूपी में पार्टी के 10 लाख लोगो ने सदस्यता हासिल की थी। वर्तमान में पार्टी के करीब 15 से 20 लाख सदस्य बन चुके हैं, उन्होंने आगे कहा कि पार्टी का हर एक सदस्य एक्टिव है और अपनी जिम्मेदारी बखुबी निभा रहा हैं।

राजनीतिक पंडितों ने कयास लगाने शुरू कर दिए हैं कि यूपी के विधानसभा चुनावों में ओवैसी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। यूपी में ओवैसी की दस्तक से सपा व बसपा की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। गोरतलब रहें कि यूपी में कई बार ओवैसी को प्रोग्राम करने की अनुमति नहीं दी गई हैं। जिसके कारण अप्रत्यक्ष रूप से ओवैसी को फायदा होता दिख रहा हैं।
और पढ़े -   गौरक्षकों को ईद उल अजहा पर हुए कुर्बानी बकरों की तेरहवीं मनाना पड़ा महंगा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE