pel

जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में एक 12 साल के बच्चे की पैलेट फायरिंग के दौरान मौत हो गई. पैलेट फायरिंग वक्त बच्चा घर के दरवाजें पर खड़ा था. इसके बाद घाटी में एक बार फिर हिंसा भड़क गई, और फिर से कर्फ्यू लगाना पड़ा.

श्रीनगर के सैदपोरा के 12 वर्षीय जुनैद अहमद भट्ट अपने घर के दरवाजें पर खड़ा था. इस दौरान पैलेट लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया. इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “वह शहर के सैदपोरा में अपने घर के गेट पर खड़ा था, तभी उसे पैलट गन से चली गोली लग गई.”

और पढ़े -   योगी सरकार ने राहुल गांधी को नहीं दी अशांत सहारनपुर का दौरा करने की इजाजत

सिर और छाती में दर्जनों छर्रे लगने की वजह से जुनैद गंभीर रूप से घायल हो गया था. स्थानीय लोगों ने उसे इलाज के लिए शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंज (एसकेआईएमएस) भर्ती कराया था, जहां उसने आज दम तोड़ दिया.

जुनेद के जनाजें में गुस्साए सैकड़ों लोग कब्रिस्तान के तरफ जा रहें थें. इस दौरान लोगों को काबू में करने के लिए सुरक्षाबसों को आंसू गैस के गोले दागने पड़े. जिसकी वजह से कई और लोग घायल हो गए.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने नोटबंदी के दौरान छिना 1.52 लाख अस्थाई कर्मचारियों का रोजगार

स्थानीय लोगों का कहना है कि सुरक्षाबलों ने उन्हें जुनैद के जनाजे में शामिल होने से रोकने की कोशिश की थी. इस तरह के हिंसक हालात को देखते हुए प्रशासन ने क्षेत्र में एक बार फिर कर्फ्यू लगा दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE