modi45

ओडिशा के आदिवासी बहुल मलकानगिरी इलाके के 505 गांवों में जापानी बुखार 73 बच्चों की मौत हो चुकी हैं. ऐसे में दस साल के एक दलित लड़के ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर इलाकें में आई इस भयानक त्रासदी के बारे में बताया.

चौथी कक्षा में पढ़ने वाले उमेश माधी ने पत्र में लिखा, ”हमारी जान बचाइए. जापानी बुखर से मेरे काफी दोस्‍तों की मौत हो चुकी है. आप पूरी दुनिया में घूम रहे हैं. क्‍या आप हमारे गांव नहीं आ सकते. देखिए यहां किस तरह से बच्‍चे मर रहे हैं.”

उमेश ने आगे लिखा, ”सर, आप कई देशों में घूम रहे हैं. क्‍या आप हमारे गांव नहीं आ सकते और यहां के लोगों की पीड़ा नहीं देख सकते.” उसने पत्र में प्रधानमंत्री को ही उनकी आखिरी उम्‍मीद बताया. अब तक इस बीमारी में 73 बच्चों की मौत हो चुकी है. हालांकि डिस्ट्रिक्ट मेडिकल ऑफिसर का कहना है कि जापानी बुखार यानि जापानी इंसेफलाइटिस से सिर्फ 23 बच्चों की मौत हुई है जबकि बाकी बच्चों की जान अन्य वजहों से गई है.

स्‍पेशल ड्यूटी पर तैनात अधिकारी नृपराज साहू ने बताया कि उम्‍मीदों के अनुसार स्थिति नहीं सुधरी है. उन्होंने कहा, जिला प्रशासन के सभी संभावित कदमों के बावजूद स्थिति नाजुक बनी हुई है. नृपराज साहू को जापानी बुखार पर नजर पर बनाए रखने के लिए मलकानगिरी भेजा गया है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें