जयपुर। पाक महीना रमजान इस बार 18 या 19 जून से शुरू हो रहा है, लेकिन रमजान में यह तारीख 36 साल बाद आई है और दोबारा 36 साल बाद आएगी। पिछले साल रमजान का महीना 30 जून से लेकर 29 जुलाई तक चला था, जिसमें बारिश के बाद लोगों को राहत मिली थी।

इस बार रमजान 18-19 जून से 18-19 जुलाई तक रहेगा, जिसमें रोजेदारों को 35 से 40 डिग्री तक का तापमान परेशान करेगा। पिछले साल रोजे  में तापमान 25 से 30 डिग्री तक रहा था।

चांद के उदय-अस्त होने के आधार पर चलने वाले इस्लामी कैलेंडर में आने वाला हर महीना एक-दो रोज कम होते जाते हैं। साल भर में इस तरह 12-13 दिन का फर्क आ जाता है। तीन साल में इस्लामी कैलेंडर एक माह पीछे हो जाता है और 36 साल में एक साल का फर्क आ जाता है।

पहला रोजा 15 घंटे 45 मिनट का

जिस तरह कैलेंडर में हर महीने में एक या दो दिन का फर्क आता है, उसी तरह रोजे का समय भी घटता जाता है। 18 जून को रमजान शुरू हुए तो 19 जून को पहले रोजे की अवधि 15 घंटे 45 मिनट की होगी। इससे पूर्व 36 साल पहले इस तारीख को इसी अवधि का रोजा रखा था।

इनका कहना है

इस्लामी कैलेंडर चंद्रमा पर आधारित है, जबकि रोजे सूर्योदय व सूर्यास्त के बीच रखे जाते हैं। इस बार चांद दिखने पर रमजान का पहला रोजा 19 जून को रखा जाएगा।

काजी खालिद उस्मानी, चीफ काजी


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE