नई दिल्ली: कोबरापोस्ट और गुलेल ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा किया है कि बीजेपी, आरएसएस, और विश्व हिंदू परिषद के नेताओं समेत कई संगठन लव जेहाद के नाम पर देश में सांप्रदायिकता फैलाने का काम रहे हैं. ऑपरेशन जूलियट में नेता चौंकाने वाले खुलासे करते हुए नजर आए. स्टिंग में बीजेपी का एक विधायक दंगों की धमकी देता है तो दूसरा बलात्कार के झूठे केस दर्ज करवाता है. क्या है ऑपरेशन जूलियट

बलात्कार का झूठा मुकदमा, 125 लड़कियों को छुड़ाने का दावा, लड़कियों से मारपीट और बदतमीजी की हरकत और भड़काऊ भाषण से हिंसा फैलाना.

operation-juliet-bjp-vhp-leaders

ये सब कुछ कोबरापोस्ट और गुलेल के उस स्टिंग ऑपेशन का हिस्सा है जो 2014 लोकसभा चुनाव के बाद यूपी, दिल्ली, कर्नाटक और केरल में किया गया. लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिमी यूपी में हुए दंगों से इलाके में तनाव का माहौल था. उसी दौर में इन इलाकों से लव जेहाद के मामले सामने लगे. कोबरा पोस्ट और गुलेल की टीम ने लवजेहाद के मामलों की सच्चाई जानने के लिए एक साल तक तहकीकात की.

गुलेल की रिपोर्टर शाजिया निगार ने लवजेहाद की सच्चाई जानने के लिए उन नेताओं से संपर्क साधा जो इस मुद्दे को जोर शोर से उठाने में लगे थे. बीजेपी, विश्व हिंदू परिषद और आऱएसएस के नेताओं से मुलाकात की. स्टिंग में सामने आया है कि नेता लवजेहाद की शिकार लड़की को वापस लाने के लिए हर तरीका अपनाते हैं.

दंगों की धमकी देकर पुलिस पर दबाव बनता हैं. मुस्लिम लड़कों पर अपहरण और बलात्कार के फर्जी केस दर्ज करवाते हैं. लड़की बयान के लिए राजी ना हो उसके साथ मारपीट की जाती है. लवजेहाद के नाम पर कॉलेजों में भड़काऊ पर्चे और किताबें भी बंटवाते हैं.

कोबरा पोस्ट और गुलेल के खुफिया कैमरे पर नजर आ रहे नेताओं ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं ये खुलासे हैरान करने वाले हैं.

इस स्टिंग ऑपरेशन में यूपी के सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम तो यहां तक कह गए कि वो पुलिस पर दबाव बनाने के लिए दंगा करने की धमकी देते हैं.

नाम- संगीत सोम

पद- सरधना से बीजेपी विधायक

दादरी कांड में राजनीति करने उतरे संगीत सोम पहली बार यूपी के मुजफ्फरनगर दंगों के बाद ही सुर्खियों में आए थे. मेरठ जिले के आलमगीर गांव के रहने वाले सोम पर पर मुजफ्फऱनगर में भड़काऊ भाषण देने और फर्जी वीडियो क्लिप बंटवाने का आरोप लगा था. कोबरा पोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन में संगीत ये दावा करते नजर आ रहे हैं कि लव जेहाद के लिए उन्होंने ना सिर्फ एक टीम बना रखी है बल्कि अपनी मनमर्जी की कार्रवाई करवाने के लिए संगीत सोम पुलिस को दंगा करने तक की धमकियां देते हैं.

लव जेहाद पर एक टीम बना रखी है जो लड़कियों को वापस लाने का काम करती है जो मुस्लिम लड़के से शादी करती हैं. पुलिस पर दबाव बनाने के लिए धरना करने से लेकर दंगा करने तक की धमकी देते हैं.

सोम इमोशनल ब्लैकमेल का हथकंडा भी अपनाते हैं. जब भी हिंदू बनाम मुस्लिम का कोई मुद्दा होता है संगीत सोम अचानक प्रकट हो जाते हैं. फिलहाल इस मामले पर संगीत सोम से जब सवाल हुआ तो उनकी यादाश्त ही कमजोर पड़ गई. फिर संगीत सोम ने कहा कि वो जो बात कहते है कानून के दायरे में रह कर करते है लड़की को इसी तरह से समझाया जाता है और इसके आलावा अगर कोई कुछ कहे  मैंने ऐसा कहा है तो मुझे याद नहीं है.

बीजेपी नेता संजीव बालियन केंद्रीय मंत्री और मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी

लव जेहाद का सच जानने के लिए कोबरापोस्ट की टीम मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी बीजेपी नेता संजीव बालियान के पास पहुंची. संजीव बालियान मोदी सरकार में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री की कुर्सी पर बैठे हैं. संजीव बालियान ने लव जेहाद और उससे भड़के दंगों के बारे में स्टिंग में जो खुलासे किए उससे जानकर आप दंग रह जाएंगे.

लव जेहाद का मुजफ्फरनगर के दंगों से क्या कनेक्शन था ये जानने के लिए कोबरापोस्ट की टीम संजीव बालियान के पास पहुंची. बालियान ने स्टिंग में माना है कि देश में बड़े पैमाने पर रणनीति के तहत लव जेहाद को अंजाम दिया जा रहा है बालियान ने खुद माना कि मुजफ्फरनगर के बवाल में कैसे छेड़छाड़ से शुरू हुए मामले को उन्होंने हिंदू बनाम मुस्लिम का रंग दे दिया था.

बालियान ने सिर्फ हिंदू मुस्लिम का रंग नहीं दिया बल्कि आग में घी डालने काम भी करते रहे. माहौल को और गर्म करने के लिए उस दौरान पंचायतें हो रही थी उन पंचायतों को बुलाने वाले भी बालियान थे.

बवाल में 2013 में 27 अगस्त को शाहनवाज की हत्या के बाद भीड़ ने दो भाइयों गौरव और सचिन को घेर कर मार डाला था. बालियान के मुताबिक लव जेहाद का विरोध करने पर ही दोनों भाइयों को मौत के घाट उतार दिया था.

लव जेहाद के मामले पर जब एबीपी न्यूज ने संजीव बालियान से बात की तो उन्होंने ये माना कि लव जेहाद हो रहा और वो उसे रोकने के लिए सारी कोशिशें कर रहे हैं.

मुजफ्फरनगर दंगों के बाद संजीव बालियान ने एक पंचायत भी की थी. वहां उन्होंने दंगों के लिए किसी को दोषी नहीं माना. कोबरापोस्ट के खुफिया कैमरे में ये भी कैद हो गया था.

यूपी के कैराना से बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने कोबरापोस्ट को बताया कि वो किस तरह से लवजिहाद के मामले में प्रशासन पर दबाव बनाते हैं. हुकुम सिंह के मुताबिक वो सड़क जाम करने जैसे धमकी देने के हथकंडे भी अपनाने से पीछे नहीं हटते हैं.

आरएसएस के वरिष्ठ नेता ओमकार सिंह

स्टिंग ऑपरेशन में आरएसएस के वरिष्ठ नेता ओमकार सिंह दावा कर रहे हैं कि वो लड़कियों को वापस लाने के लिए तंत्र मंत्र का सहारा तक लेते हैं. ABP न्यूज ने ओमकार सिंह से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन संपर्क नहीं हो पाया.

कोबरापोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन में 125 लड़कियों को मुसलमान लड़कों के चंगुल से छुड़ाने का दावा कर रहे ये हैं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ नेता ओमकार सिंह. ओमकार सिंह का दावा है कि वो यूपी के मुजफ्फरनगर में लव जेहाद और घर वापसी पर काम करते हैं. आप ये जानकार हैरान हो जाएंगे कि ओमकार सिंह लड़कियों को वापस लाने के लिए तंत्र मंत्र का सहारा भी लेते हैं.

ओमकार सिंह ने ये भी कबूला कि वो पुलिस पर भीड़ के जरिए दवाब बनाने का काम करते हैं. ओमकार सिंह से जब पूछा गया कि बिना किसी गुनाह के वो मुसलमान लड़कों पर केस कैसे करवाते हैं तो उन्होंने झूठे केस में लड़कों को फंसाने और लड़की का ब्रेन वॉश करने की बात भी मानी.

इस स्टिंग ऑपरेशन के तहत कोबरा पोस्ट ने सितंबर 2014 में मुजफ्फरनगर के मीरपुर में लव जेहाद के मामले की पीड़ित से भी बात की. पीड़ित लड़की ने कबूला कि उसके साथ कोई लव जेहाद नहीं हुआ था और उसे बहला फुसलाकर फर्जी केस दर्ज किया गया था.

बीजेपी विधायक सुरेश राणा

शामली से बीजेपी विधायक सुरेश राणा का दावा है कि लव जेहाद के 50 मामले उन्होंने खुद देखे हैं. राणा ने कबूला है कि हिंदू बेटियों को बचाने के लिए वो रेप का झूठा केस तक दर्ज करवा देते हैं.

सुरेश राणा शामली के थाना भवन से विधायक हैं और लव जेहाद के खिलाफ बेटी बचाओ और बहू लाओ मुहिम चला रहे हैं. कोबरापोस्ट और गुलेल के स्टिंग में सुरेश राणा ने माना कि लव जेहाद के खिलाफ वो किसी भी हद तक जा सकते हैं.

लव जेहाद के खिलाफ सुरेश राणा कई सालों से अभियान चला रहे हैं. राणा के मुताबिक जरूरत पड़ने पर वो मुस्लिम लड़कों पर रेप का झूठा केस दर्ज करवाने से भी पीछे नहीं हटते.

कोबरापोस्ट के खुफिया कैमरे में सुरेश राणा ने ये भी बताया की किस तरह करनाल की एक हिंदू लड़की को मुस्लिम लड़के से अलग करने के लिए सुरेश राणा ने घर में घुसकर मारपीट की थी.

कोबरापोस्ट का स्टिंग आने के बाद एबीपी न्यूज सुरेश राणा का पक्ष जानने के लिए पहुंचा. राणा ने स्टिंग के बारे में कोई जानकारी होने से ही इनकार कर दिया.

खबर साभार – ABP न्यूज़ 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें