इस्लामाबाद। लाहौर के रहने वाले आर्टिस्ट इकबाल हुसैन पाकिस्तान के उन धर्माध कट्टरपंथियों के बिल्कुल उल्टे हैं जो दूसरे धर्मो को जड़ से खत्म कर देना चाहते हैं। एक तवायफ का बेटा तथा धर्म से मुस्लिम होने के बाद भी हुसैन पाकिस्तान में टूट रहे मंदिरों से हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को इकट्ठा करते हैं तथा पूरे आदर-सम्मान के साथ उनका संरक्षण करते हैं। अपनी इस रूचि के चलते उन्हें पाकिस्तानी कट्टरपंथियों की तरफ से चेतावनी भी मिल चुकी है। उन पर कई बार हमले भी किये जा चुके हैं।

प्रोफेशनल पेंटर भी है इकबाल हुसैन

हुसैन एक प्रोफेशनल पेंटर भी है। उन्होंने पेरिस में भी कला का अध्ययन किया है। उनकी बनाई पेंटिंग्स दस से पन्द्रह लाख के बीच में बिकती हैं। अपनी पेंटिंग्स में वह अक्सर मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं को छूते हैं। वह कहते हैं कि हिंदू देवी-देवताओं की मूर्ति इकट्ठा करने में भी आर्ट ही मुख्य है। ये कला के अदभुत नमूने हैं जिनका लोगों के सामने आना जरूरी है। हम सिर्फ धर्म का नाम लेकर इन्हें खत्म नहीं कर सकते।

इकबाल हुसैन चलाते हैं शहर का सबसे मंहगा रेस्तरां

इकबाल हुसैन लाहौर में कूक्कूज डेन नाम से एक रेस्तरां चलाते हैं जो कि लाहौर का सबसे महंगा रेस्तरां है। यहां पर दिन भर भीड़ लगी रहती है। शुरू में उनका हुसैन पाकिस्तान के विभिन्न स्थलों से इकट्ठी की गई हिंदू, जैन, बौद्ध धर्म की प्रतिमाओं को पूरे आदर-सम्मान के साथ सजाते हैं। इस वजह से यह रेस्तरां पूरे विश्व में अपनी अनूठी पहचान बना चुका है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें