वसीम अकरम त्यागी
पिछले साल सपा के राज्य सभा सांसद चौधरी मुनव्वर सलीम ने मध्यप्रदेश के विदिशा में अयोध्या का अर्थ बताते हुऐ कहा था कि डिक्शनरी कहती है कि अयोध्या अर्थात ऐसी भूमी जिस पर युद्ध नहीं लड़ा जा सकता। उन्होंने आगे कहा था कि ‘इस देश में राम के मंदिर बनने से कौन माई का लाल रोक सकता है’, इस पर किसी को आपत्ती भी नहीं होनी चाहिये राम के मंदिर बनने से रोक ही कौन सकता है ?
मगर आपत्ती वहां हुई जब भाजपा प्रवक्ता जी न्यूज़ ने मुनव्वर सलीम के बयान को दूसरा ही रंग देकर प्रसारित किया। जी न्यूज ने अपने पोर्टल और चैनल पर प्रकाशित/प्रसारित किया कि – राम मंदिर बनने से कोई माई का लाल नहीं रोक सकता – मुनव्वर सलीम
इस पर विवाद हुआ जिस कार्यक्रम में मुनव्वर सलीम ने बयान दिया था वहां पर दूसरे पत्रकार भी मौजूद थे, वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह ने जी न्यूज के इस प्रोपेगेंडा के विरुद्ध देशबंधू और उर्दू ‘सहाफत’ में आर्टिकिल लिखा, जिसमें जी न्यूज की झूठी अफवाह फैलाने की निंदा की गई। इस सबके बावजूद वह खबर लिंक के साथ अभी तक जी न्यूज की वेबसाईट पर मौजूद है।
tv-news-channel-spreading-propaganda
जिसे मजलिस वालों ने लपक लिया है और मुनव्वर सलीम को गालियां बरसाकर खुद को मुसलमानों का हमदर्द, यानी ‘सच्चा मुसलमान’ साबित करने पर तुले हैं। ऐसा नहीं है कि जी न्यूज़ ये सब लापरवाही से किया गया था बल्कि सच्चाई यह है कि जी न्यूज खुद प्रोपगेंडिस्टों के साथ में मिलकर आये दिन नये नये प्रोपगेंड फैलाता रहता है। एक दिन गलती से समाचार देखने लगा तो जी न्यूज़ लगा दिया वहां आईसिस भारत पर हमला ही करने वाला था मैंने तभी चैनल बदल दिया और राहत की सांस ली।
जिन चैनलों के लिये खबर का मतलब सिर्फ नंगई और सांप्रदायिकता ही रह जाये, या फिर चाटुकारिता ही रह जाये वे दर्शकों को ‘सच’ दिखायेंगे ऐसी उम्मीद करना अपने आपको धौखा देना है। दरअस्ल ये चैनल खबरें नहीं दिखाते बल्कि विस्फोट करते हैं, नई नई प्लांटिड स्टोरियां चलाकर देश के सांप्रदायिक ताने बाने को खंडित करने की लगातार कोशिशें करते रहते हैं।
– लेखक जाने माने पत्रकार और समाजसेवी है 

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE