पठानकोट एयरबेस में आतंकी हमले के बाद भारत ने संयुक्त राष्ट्रसंघ (यूएन) की एक समिति के सामने आतंकी मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव रखा था. कल इस प्रस्ताव की समयसीमा खत्म हुई है और इसके पहले चीन ने इसपर विरोध दर्ज करवा दिया है. चीन द्वारा इस प्रस्ताव पर वीटो पावर के इस्तेमाल से मसूद पर प्रतिबंध का फैसला टल गया है. संयुक्त राष्ट्र के इस घटनाक्रम ने आज सोशल मीडिया पर भी सुर्खियां बटोरी हैं. यहां कई लोगों ने इस हरकत के लिए चीन की आलोचना की है. एक टिप्पणी के अनुसार चीन ने दिखा दिया है कि वह आतंकवाद के नहीं भारत के विरुद्ध है. सोशल मीडिया पर ‘मसूद अजहर’ और ‘चीन का धोखा’ आज ट्रेंडिंग टॉपिक रहे.

'यूएन में पता चला कि चीन के भरोसे की उम्र चीनी सामान से ज्यादा नहीं है!'

श्रीनगर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) में गुरुवार को भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए टी-20 सेमीफाइनल मुकाबले के बाद स्थानीय और दूसरे राज्य के छात्रों के बीच झड़प हो गई थी. ख़बरों के अनुसार स्थानीय छात्र कथिततौर पर भारतीय क्रिकेट टीम की हार का जश्न मना रहे थे और इसका विरोध करने पर दूसरे राज्यों से आए छात्रों के साथ उनकी मुठभेड़ हुई. सोशल मीडिया में भारत-वेस्टइंडीज मैच की चर्चा के साथ आज यह मसला भी बातचीत का विषय बना और इससे जुड़ा ‘एनआईटी श्रीनगर’ आज ट्रेंडिंग टॉपिक बना रहा. श्रीनगर एनआईटी में पढ़ रहे दूसरे राज्यों के छात्रों ने सोशल मीडिया पर अपनी सुरक्षा को लेकर आशंका व्यक्त की है. ये संदेश आज कई लोगों ने शेयर किए हैं.

दारुल उलूम देवबंद ने भारत माता की जय का उद्घोष करने वालों के खिलाफ फतवा जारी किया है. दारुल उलूम का कहना है कि अल्लाह सिर्फ एक है और भारत माता की देवी के रूप में पूजा करना गैर इस्लामी है. इस बहाने सोशल मीडिया पर एक बार फिर से भारत माता की जय बोलने या ना बोलने पर बहस छिड़ी है.

पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ़्ती चार अप्रैल को कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगी. सोशल मीडिया पर महबूबा मुफ़्ती के समर्थक और विरोधी आज से ही उनके शासन के बारे में कयास लगाते दिखाई दे रहे हैं. आज एक अप्रैल पर मूर्ख दिवस से जुड़ी टिप्पणियां भी सोशल मीडिया पर भी खूब आईं. यहां मजेदार ढंग से कभी सलमान खान की शादी तो कभी विराट कोहली के संन्यास जैसी ख़बरें देकर लोगों को अप्रैल फूल बनाने की कोशिश चलती रही.

अमित तिवारी | fb/amit.tiwary7

चुनाव हमेशा एक अप्रैल को होने चाहिए. #मूर्खदिवस

कपिल शर्मा | @KapilMishraAAP

अगर अफजल गुरू और भारत माता की जय पर महबूबा मुफ़्ती का स्टैंड नहीं पता चलता और उस पर अमित शाह जी का जवाब नहीं आता तो शपथ ग्रहण का विरोध काली पट्टी बांधकर करूंगा.

मंजुल | @MANJULtoons

डा. राकेश सिन्हा | @RakeshSinha01

दारुल उलूम का भारत माता की जय पर फतवा आजादी के पूर्व मुस्लिम लीगी मानसिकता का प्रतीक है. यह राष्ट्रवाद पर सांप्रदायिक ग्रहण के समान है.

स्वाति झा | fb/swati.jha.37853734

यूएन में पता चला कि चीन के भरोसे की उम्र चीनी सामान से ज्यादा नहीं है.

चौधरी ट्रम्प | @sailorsmoon

भारत माता की जय बोलने पर सरकारी नौकरी की घोषणा कर दो, फिर किसी के ईमान के आगे धर्म या फतवा नहीं आएगा.

छीछालेदर | @chhichhaledar

आने वाली पीढ़ियां मूर्ख दिवस मनाना सीखने के लिए विजय माल्या की आत्मकथा पढ़ेंगी.

(ये लेख सत्याग्रह से लिया गया है जिसके लेखक अंजलि मिश्रा है.. तथा इस लिंक पर आप लेख पढ़ सकते है)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें