कोहराम न्यूज़ के लिए मंज़र खान का लेख 

जैसे जैसे ईद उल-अजहा की तारिख नज़दीक आती जाती है वैसे वैसे दुनियाभर में पशु प्रेमी संगठनों के साल भर से सोये कार्यकर्ता अचानक नीद से ऐसे जागते है जैसे हलाल होने से पहले मुर्गे ने उनके कान में बाग़ दे दी हो. वैसे आमतौर पर पशु संगठन इसलिए बनाये जाते है की वो दुनियाभर में पशुओ पर हो रही क्रूरता के खिलाफ काम करें लेकिन मामला तब एक तरफ़ा बन जाता है जब सिर्फ एक धर्म विशेष के त्यौहार पर ही तमाम संगठन अपनी आवाज़ बुलंद करते है.

वैसे तो देखा तो दुनियाभर में माँसाहारी लोग बहुमत में है इसीलिए आज मैं आपके सामने वो बातें रखता हूँ जिससे साबित हो जायेगा की यह संगठन सिर्फ मुस्लिमो के खिलाफ ही काम करते है बाकी तरफ से अपनी आँखें मूँद लेते है. चलिए पहले बात करते है की कहाँ कहाँ कितने मुर्गे/गाय/भैंस/बकरें काटे जाते है या उनकी बली दी जाती है.

kfc

केऍफ़सी (KFC)

बात मुर्गे काटने की हो और उसमे KFC का नाम ना आये ऐसा बहुत मुश्किल है दुनियाभर में शायद ही कोई ऐसा मेट्रो शहर हो जहाँ KFC की चेन ना हो. यहाँ तक की बड़े शहरों में तो हर माल में एक KFC रेस्तरां होता है. क्या आप जानते है की अपने ग्राहकों की मांग पूरी करने के लिए KFC एक वर्ष में कितने मुर्गे काट डालता है ..? अंदाज़ा लगाइए .. चलिए हम बताते है.

17 मार्च 2015 में अंग्रेजी के अखबार डेली मेल में छपी खबर के अनुसार KFC दुनियाभर में अपने रेस्तरां में मांस की आपूर्ति करने के लिए लगभग 23 मिलियन चिकन कटवाता है मतलब हर मिनट 400 मुर्गे KFC के ग्राहकों के पेट में चले जाते है लेकिन KFC के गेट के बाहर आपको गुब्बारें बेचने वाले बच्चे ही दिखाई देंगे ना की पशु प्रेमियों के संगठन और एक बात और जो चिकेन KFC परोसता है वो मात्र 35 दिन की अल्पायु का होता है. मने के जवान होने से पहले बच्चा ही काट डाला.

मैक डोनाल्ड (Mc Donald) 

मैक डोनाल्ड पर चर्चा करने से पहले ये फैक्ट ज़रूर जान लें

  • दुनिया में कहीं ना कहीं हर 4 घंटे में एक नया मैक डोनाल्ड खुलता है
  • अब तक कुल मिलकर लगभग 36 हजार मैक डोनाल्ड रेस्तरां खोले जा चुके है
  • मैक डोनाल्ड दुनियाभर में गौमांस और सूअर के मांस का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है.
  • मैक डोनाल्ड रोजाना लगभग 68 मिलियन लोगो का को मांस परोसता है जो की यूनाइटेड किंगडम की कुल पापुलेशन से भी अधिक है.
  • भारत में लगभग 180 मैक डोनाल्ड के रेस्तरां है.

1995 में शुरू किये गये मैक डोनाल्ड गर्व के साथ कहता है की अभी तक उसने 247 बिलियन बीफ बर्गर बेच चूका है.जिसके लिए कुल मिलाकर अभी तक 122 मिलियन गाय हैम बर्गर के लिए काटी जा चुकी है. पिछले 5 वर्षों में चूँकि मांग बढ़ी है जिसके लिए प्रत्येक वर्ष 5 बिलियन बर्गर की आपूर्ति की गयी सीधा सा मतलब है रोजाना हजारो गाय ग्राहकों के मांग को देखते हुए काटी गयी लेकिन कहीं भी आप को यह सब देखने को नही मिलेगा की किसी ने मैक डोनाल्ड के खिलाफ मोर्चा खोला हो.

thumb_4225
गढ़िमाई त्यौहार में बलि चढ़ाये गये जानवर

नेपाल का गढ़ीमाई पर्व 

हमारे पडोसी देश नेपाल का एक उत्सव बहुत मशहूर है जिसमे हर 5 वर्ष में लाखो की तादात से जानवरों की बली दी जाति है. काठमांडू से लगभग 160 किलोमीटर दूर बाड़ा जिले में एक जगह है बरियारपुर जहाँ यह गढ़िमाई मंदिर स्थित है. पहले तो यह त्यौहार मधेसी और नेपाल के सीमावर्ती इलाकों के बिहारी समुदाय के लोग मनाते थे. शक्ति की देवी गढ़िमाई को प्रसन्न करने के लिए बहुत बड़ी तादात में भैंस, सूअर, बकरी, मुर्गे, कबूतर की बली चढ़ाई जाती है. सन 2009 में त्यौहार के एक ही दिन में लगभग 5 लाख जानवरों की बली चढ़ाई गयी. इस उत्सब में प्रत्येक पांच वर्ष में लगभग 40 लाख लोग उपस्थित होते है.

चीन का युलिन कुत्ते-बिल्लियों का मांस त्यौहार 

चीन में हर वर्ष युलिन फेस्टिवल मनाया जाता है जहाँ हजारों की संख्या में कुत्ते और बिल्लियों को मांस के लिए काटा जाता है, 10 दिन चलने वाले इस त्यौहार में अमूमन 10 हजार कुत्ते और बिल्लियाँ काटे जाते है. चीन के दक्षिण-पूर्व गुआन्ग्ज़ी झुआंग क्षेत्र में यह त्यौहार मनाया जाता है.

इनके अलावा दुनियाभर में बहुत से क्षेत्रों में पशु काटने के अलग अलग त्यौहार मनाये जाते है कहीं बैल के सींग जलाकर लोग खुशियाँ मनाते है तो कहीं जानवर की चारो टांगो को बाधकर उन्हें हर तरफ से खीचा जाता है. यह सब त्यौहार के नाम पर. इन सभी त्योहारों में एक बात ख़ास है जानवर को काटने/बली चढाने के बाद या तो उनके मांस को फेंक दिया जाता है या फिर खुद खा लिया जाता है लेकिन ईद उल अजहा ऐसा त्यौहार है जहाँ मांस गरीबो में बाँट दिया जाता है.

मंज़र खान 

नोट – यह लेखक के निजी विचार है कोहराम न्यूज़ लेखक द्वारा कही किसी बात की ज़िम्मेदारी नही लेता है 

 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें