उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ एक बार फिर विवादित बयान की वजह से चर्चा में हैं। उन्होंने कहा है कि जिन लोगों को सूर्य नमस्कार से आपत्ति है, उन्हें समुद्र में डूब जाना चाहिए।

मंगलवार को वाराणसी में एक कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सबसे बड़े योगी भगवान शंकर थे और उन्हीं से योग की शुरुआत हुई। आदित्यनाथ ने कहा, ‘योग को ऋषियों ने आगे बढ़ाया। हिंदुस्तान में महादेव का वास है। जिन्हें योग से कोई समस्या है, वे हिंदुस्तान छोड़कर जा सकते हैं।’

योगी यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि जिन्हें सूर्य को नमस्कार करने से आपत्ति है, उन्हें समुद्र में डूब जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘सूर्य नमस्कार योग है। इससे मन शुद्ध होता है। सूर्यदेव सभी को बिना भेदभाव एक नजर से देखते हैं। जिसे आपत्ति है वह या तो समंदर में जाकर डूब जाए या फिर अंधेरी कोठरी को ठिकाना बना ले।’

योग दिवस पर होने वाले कार्यक्रम में सूर्य नमस्कार का विरोध कर रहे मुस्लिम संगठनों पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा, ‘दुनिया के 163 देश योग दिवस का समर्थन कर रहे हैं। इन देशों में 45 मुस्लिम देश भी हैं। जब उन्हें योग से कोई दिक्कत नहीं है तो फिर भारत के मुसलमानों को किस बात से आपत्ति है?’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें