13901603_897375217031059_2591724718972507992_n

दीप पाठक 

गुजरात की ये दलित-मुस्लिम मोनोलिथ बाण्डिंग पूरे देश में वायरल न हों इसके लिए RSS की प्रयोगशाला में ऐंटी वैक्सीन जरुर बनायी जा रही होगी मुसलमान-दलित-गाय तो इम्मोर्टल हो गयी उपर से हम कहते आये थे ये तो गऊ जैसी लड़की है ये लड़कियां कब मरखनीं हो आयीं समझ नहीं आ रहा हर दूसरी औरत नफ्श के खेचे हुए “हलका-ए-अज़मत” से निकल भागी है…..

हे राम ! गांधीजी का ये अंतिम बोल था !

ये बोल आज मुंह पर न सही पंडे बजरंगियों भगवों के दिल में है उनकी तो छटपटाहट और गाली दिखती है वे नागपुर में काउंटर प्लानिंग भी कर रहे होंगे और जल्द ही टेस्ट भी करेंगे… पर एक धूर्त शातिर कांग्रेस भी है जो इस बाण्डिंग के खतरे से आसन्न है पर उसका तिलिस्म गहरा है उनकी सुन्न तैयारी न दिखाई देती है न उनके चेहरे-मोहरे से मनै बाडी लैंग्वेज से भी कुछ पता नहीं चलता चीन के शांत कल्ट “निंजा” की तरह कांग्रेस की निशाचरी माया है जो न दिन को दिखती न रात में !
मुलायम तो संघ का सहयोगी हैं ये बात समझ भी आती है और दिखती भी है पर जिनके पास आंखें हैं वे ही देख सकते हैं जिनके पास कान हैं वे ही सुन सकते हैं !

एक बात बोलूं मानोगे ?

वो बात ये है कि ओबीसी अब महत्वपूर्ण हो गया है ये भाजपा-कांग्रेस-सपा आदि के साथ नहीं गया तो अगला निशाना ओबीसी होगा इस पर बेभाव की पड़ेगी ! फिलहाल इस दलित-मुस्लिम एकता वायरस की ऐंटी वैक्सीन ओबीसी के रक्त से ही बनेगी ये तय है !

खतरा लग तो रहा है इसका प्राथमिक इलाज तो महंगाई बढ़ाकर किया ही जा रहा है पर… फिर भी ये भविष्य तो ठीक नहीं दिख रहा कुछ करना होगा “शाक थैरैपी” जैसा ! खैर मेरी चिंता का ये विषय नहीं जिनका है वे प्रीकाशन ले ही रहे होंगे ! हमारे उत्तराखंड में तो अब खसिये (ठाकुर) ही निर्णायक हैं भाजपा और कांग्रेस दोनों में और ये देश की सबसे उम्दा फासिस्ट/धार्मिक प्रयोगशाला है जो 100% रिजल्ट देती है !

ये दलित-मुस्लिम जब भी एक हुए हैं तो फिर इतिहास और भूगोल दोनों बदलते हैं इसीलिए कह रिया हूं भाजपा-कांग्रेस-मुलायम जी से “बचाओ ! बचाओ ! ये खतरा बहुत बड़ा है !

वैसे एक बात बताऊं संघ की प्रयोगशाला पर इस टैम कांग्रेस और मुलायम की भी उम्मीदें टिकी हैं !

लेखक जाने माने समाजसेवी है
लेखक जाने माने समाजसेवी है

नोट – यह लेखक के निजी विचार है कोहराम न्यूज़ लेखक की कही किसी भी बात की ज़िम्मेदारी नही लेता.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें