श्रीमान् नरेंद्र मोदीजी,
आज हिंदुस्तान ने कश्मीर में फिर एक सपूत खो दिया। भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज शहीद हो गए। आतंकियों ने निर्मम तरीके से उनकी हत्या की। इससे पहले छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के हाथों वीरगति को प्राप्त हुए सीआरपीएफ जवानों की चिता ठंडी भी नहीं हुई थी कि बाॅर्डर पर हमारे दो बहादुर जवानों की गर्दनें काटी गईं।
ये हालात देख मुझे महसूस होता है कि आतंकियों, नक्सलियों और अलगाववादियों में आपकी सरकार का कोई खौफ नहीं है। हर शहादत के बाद आपके नेता कुर्ता-पायजामा पहन टीवी पर आ जाते हैं और कठोर शब्दों में निंदा कर देते हैं। आपके अफसर ट्वीट कर बताते हैं कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। फिंर सब खामोशी की चादर ओढ़ अगली शहादत का इंतजार करते हैं।
मोदी साहब, हमें नहीं चाहिए डिजिटल इंडिया, नहीं चाहिए बुलेट ट्रेन, नहीं चाहिए शौचालय बनाने के लिए सब्सिडी। आप सेना को हुक्म दें कि कश्मीर और छत्तीसगढ़ में जिन राष्ट्रविरोधी ताकतों ने तूफान मचा रखा है, उनका मुकम्मल इलाज करे। डिजिटल इंडिया बाद में बनता रहेगा। पहले इंडिया को तो बचा लें।
हमारा छोटा-सा पड़ोसी देश है – श्रीलंका। कुछ साल पहले तक लिट्टे के खूंखार आतंकी वहां भयंकर रक्तपात मचा रहे थे। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की हत्या भी इसी आतंकी संगठन ने की थी। जब मामला बर्दाश्त से बाहर होने लगा तो श्रीलंका की सरकार ने सख्त फैसला लिया और सेना को खुली छूट दी।
आज श्रीलंका की धरती से लिट्टे का सफाया हो गया और वहां अमन है। लिट्टे के पास खुद की वायुसेना थी। उसके घातक लड़ाके हर वक्त अपने साथ साइनाइड का कैप्सूल रखते थे, लेकिन श्रीलंका ने मजबूत इरादा किया और लिट्टे को धराशायी कर दिया। जबकि हमारे देश में मामूली पत्थरबाजों और वर्षों पुरानी बंदूकें लेकर धमकी देने वाले इन नक्सलियों ने नाक में दम कर रखा है।
मोदी साहब, मैंने आपको वोट गोबर और गौमूत्र की ब्रांडिंग के लिए नहीं दिया था। आपके पास एक सौ तीस करोड़ का मुल्क है और लाखों की फौज है। बहुत ताकतवर हैं आप। फिर इन मुट्ठीभर बदमाशों के सामने बेबस क्यों दिखते हैं? आप किसके हुक्म का इंतजार कर रहे हैं? समय आ गया है कि आप इन दुष्टों को कठोर दंड दें। आखिर कितने जवानों की बलि लेकर आपकी सरकार जागेगी?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE