भारत के गुजरात राज्य के भरूच जिले में सांप्रदायिक हिंसा में तीन लोग मारे गए।

इस सांप्रदायिक हिंसा में कम से कम दस लोग घायल बताए जा रहे हैं।  पुलिस ने बताया कि एक व्यक्ति की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और दो अन्य ने सूरत में एक अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।  घायलो का हनसोट, भरूच और सूरत में इलाज चल रहा है।  भरूच के पुलिस अधीक्षक बिपिन अहिरे ने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है।  उन्होंने कहा कि हमने अतिरिक्त बल बुलाए हैं और हम स्थिति पर कड़ी नजर रखे हुए हैं।

अहिरे ने बताया कि मकर संक्रांति समारोह के दौरान अम्बेटा गांव के पास पतंग पकड़ने को लेकर दो समूहों के बीच हाथापाई के बाद झड़पें आरंभ हो गईं।  उन्होंने कहा कि इस घटना से अम्बेटा और हनसोट में तनाव फैल गया।  भरूच के पुलिस अधीक्षक बिपिन अहिरे ने कहा कि लोगों ने पथराव भी किया।  उन्होंने कहा कि हमें यह भी पता चला कि कुछ दुकानें जला दी गईं।

स्थानीय पुलिस के अनुसार तनाव तब शुरू हुआ जब आज सुबह अम्बेटा गांव में पतंग पकड़ने को लेकर एक युवक ने एक समुदाय विशेष से ताल्लुक रखने वाले एक लड़के को पीट दिया।

पुलिस के अनुसार धार्मिक स्थलों और दुकानों को निशाना बनाया गया। पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। दोनों स्थानों पर पुलिस और राज्य रिजर्व पुलिस के जवान बड़ी संख्या में तैनात किए गए हैं।  इससे पहले नवंबर में भी भरूच में हिंसा हो चुकी है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें