1. आपको विश्वास नहीं होगा लेकिन ये सच है कि आप शेविंग करने में 139 दिन बर्बाद कर देते हैं. Boston University के Dr. Herbet Mescon ने calculate किया है कि अगर आप 15 साल की उम्र में शेविंग स्टार्ट करते हैं, तो 55 साल की उम्र तक आप लगभग 3,350 घण्टे इस काम में लगा चुके होते हैं. यानि पूरे 139 दिन खर्च करते हैं आप, सिर्फ शेविंग पर, और फिर रेज़र,शेविंग क्रीम और लोशन पर भी तो खर्च होता है.

2. दाढ़ी आपके चेहरे की स्किन को धूप और धूल से बचाती है. कई और भी फायदे हैं जैसे, टैनिंग नहीं होती और ये स्किन कैंसर, गले की बीमारी और अस्थमा से भी बचाती है.

3. दाढ़ी से आप में अधिकार की भावना आती है और निःसंदेह ज़िम्मेदारी की भी.

4. दाढ़ी बढ़ा कर रखने वाले लोग ज़्यादा गंभीर नज़र आते हैं और लोगों में इनका रुतबा भी होता है.

5. दाढी वाले ज़्यादा Masculine और Healthy नज़र आते हैं.

6.आप दाढ़ी रखते हों तो दूसरों की तुलना में ज़्यादा नोटिस किए जाते हैं.

वैसे भी पुरुषों को पुरुषों टाइप दिखना चाहिए Because Men are Men.

इस्लाम मे डाढी और मुंछ।

इस्लाम मजहब के चार प्रमुख इमाम

1. इमाम अबू हनीफा रहमतुल्लाह अलैहिम
2. इमाम मलिक रहमतुल्लाह अलैहिम
3. इमाम शाफइ रहमतुल्लताह अलैहिम
4. इमाम अहमद रहमतुल्लाह अलैहिम
के नजदीक दाढी मुडाना हराम है।
(डाढी और अम्बीया की सून्नत-30)
साथ ही इस्लाम में मूंछे रखना भी हराम है।
क्योंकि रसूल सल्लल्लाहु  ने घमंड को दर्शाती ताव खाती मूंछे ना रखने का हुकुम दिया क्यूंकि क़ुरान ऐसा कहता है ऊँट का सुई की नोक से निकलना आसान लेकिन घमंडी का जन्नत में दाखिल होना नामुमकिन है।

इस्लाम को मानने वालों का मानना है कुरान के आधार और सत्य है की जो हम पानी पीतें हैं मूंछ रहने पर पानी की एकाध बूँद मूंछ में फंसी रह सकती है और वह पानी बर्बाद हो जायेगा और अल्लाह उस पानी की बूँद का भी हिसाब लेगा | बहुत हीं उम्दा बात कही गयी है कुरान में सिर्फ इस्लाम वालों को हीं नहीं विश्व के प्रत्येक मनुष्य को यह बात माननी चाहिए | हमें अनावश्यक किसी वस्तु को बर्बाद करने का हक नहीं है |

Gulammohiyuddin N shaikh


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें