वहाबी स्कॉलर जाकिर नाइक से एक साम्प्रदायिक सद्भाव सम्मेलन में मिलने की बात कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने स्वीकार की है. हालांकि साथ ही उन्होंने कहा कि उन्होंने ऐसा करके किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया.

उन्होने कहा, जाकिर नाईक के खिलाफ उस समय कोई मामला लंबित नहीं था. सिंह ने महाराष्ट्र सरकार को चुनौती दी कि वह किसी कानून के उल्लंघन के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई करे. उन्होंने कहा कि सम्मेलन का आयोजन राज्य की उचित अनुमति से किया गया था.

और पढ़े -   सड़कों पर शादियों से परहेज नहीं, आखिर नमाज से क्यों: अखिलेश यादव

उन्होंने कहा,  मैं नाइक से मुंबई में आयोजित एवं एक सांप्रदायिक सद्भाव अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में मिला था और इसे संबोधित किया था. उन्होंने कहा कि सम्मेलन का आयोजन महाराष्ट्र सरकार से उचित अनुमति मिलने के बाद किया गया था और तब नाइक के खिलाफ कोई आपराधिक मामला नहीं था, कम से कम उनकी जानकारी में तो नहीं.

उन्होंने कहा कि यदि मैंने किसी कानून का उल्लंघन किया है, महाराष्ट्र सरकार या भारत सरकार मेेरे खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए स्वतंत्र हैं और मैं किसी भी मामले का सामना करने के लिए तैयार हूं.

और पढ़े -   पाकिस्तान और चीन मिलकर कर रहे भारत के खिलाफ युद्ध की तैयारी: मुलायम सिंह

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE