बलिया
अपने विवादित बयानों के लिये अक्सर चर्चा में रहने वाले बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने शरिया कानूनों में अदालतों के जरिये दखलअंदाजी पर आपत्ति दर्ज कराने वाले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर हमला किया है। उनका कहना है कि ऐसा कहने वालों को उन देशों में चले जाना चाहिए जहां शरिया कानून लागू है।

आदित्यनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि बोर्ड ने शरिया कानून में दखलअंदाजी का आरोप लगाया है, मगर भारत शरिया कानून से नहीं चलेगा। उन्‍होंने कहा, ‘यह देश एक संविधान और विधान से चलेगा। शरिया कानून में हस्तक्षेप ना करने की मांग उठाने वाले लोगों को ऐसे मुल्क में चले जाना चाहिये, जहां यह कानून लागू हो।’

उन्होंने कहा कि अदालतों के जरिये शरिया कानून में हस्तक्षेप के आरोप वाला बोर्ड का बयान दरअसल न्यायालय की अवमानना के दायरे में आता है। बता दें कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने शनिवार को आरोप लगाया था कि अदालतों के जरिये मुस्लिम पर्सनल लॉ में हस्तक्षेप किया जा रहा है और वह केंद्र से अपील करता है कि शरिया कानून का अस्तित्व बनाये रखने के पिछली सरकारों के रुख पर कायम रहा जाए।

बोर्ड के एक सदस्य ने बोर्ड की कार्यकारिणी समिति की बैठक के बाद आयोजित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा था कि अदालतों के जरिये पर्सनल लॉ में दखलअंदाजी की जा रही है। सुप्रीम कोर्ट में हाल में तलाक के एक मामले समेत कई प्रकरण आये हैं। उन्होंने कहा था कि बोर्ड की सरकार से अपील है कि शरिया कानून में किसी तरह का हस्तक्षेप ना हो।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें