नई दिल्ली | समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल सदन में हिन्दू देवी देवताओ के ऊपर आपत्तिजनक बयान देकर सुर्खियों में आ गए है. हालिया दिनों में हुई मोब लिंचिंग की घटनाओं को सदन में उठाते हुए नरेश अग्रवाल अपनी मर्यादाओ को कब लांघ गए शायद उनको भी इस बात का अंदाजा नही हुआ. इसलिए जब सदन में हंगामा होना शुरू हुआ तो उन्होंने अपने शब्दों पर खेद व्यक्त कर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की.

दरअसल उन्होंने हिन्दू देवी देवताओ को शराब के साथ जोड़ते हुए एक घटना का जिक्र किया. उन्होंने बताया की 1991 में जब वो जेल में तब्दील हो चुके एक स्कूल का दौरा कर रहे थे तो वहां की दीवारों पर उन्होंने हिन्दू देवी देवताओं को शराब से जोडती कुछ लाइने लिखी देखी. नरेश ने सत्ता पक्ष की और इशारा करते हुए कहा की वो लाइने आप ही के लोगो द्वारा लिखी गयी थी.

नरेश अग्रवाल के इस बयान से सदन में कोहराम मच गया. सत्ता पक्ष के लोगो ने हंगामा करते हुए नरेश अग्रवाल से माफ़ी मांगने की मांग की. इस दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी नरेश पर निशाना साधते हुए कहा की अगर आपने यह बाते सदन के बाहर कही होती तो आपके खिलाफ एफआईआर हो चुकी होती. बहराल नरेश अग्रवाल को उनके इस बयान ने सुर्खियों में जरुर ला दिया. वो बुधवार से ही  सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे है.

इसी बीच नोट बंदी के समय की उनकी एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस विडियो में नरेश अग्रवाल के बयान पर पीएम मोदी ठहाके लगाकर हस्ते दिखाई दे रहे है. यह विडियो 24 नवम्बर 2016 की है जब राज्यसभा में नोट बंदी पर चर्चा के दौरान नरेश अग्रवाल ने पीएम मोदी की और इशारा करते हुए कहा की आपने इसके बारे में वित्त मंत्री अरुण जेटली को भी नहीं बताया. अगर आप उन्हें बता देते तो वो चुपके से हमारे कान में भी आकर बता देते.. नरेश की इस बात पर पीएम मोदी भी अपनी हंसी को नही रोक पाए.

देखे विडियो 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE