‘भारत माता की जय’ का नारा ना लगाने को लेकर एमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर राजनीतिक पारा गरम होता जा रहा है. मंगलवार को केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि ओवैसी को ऐसे बयान पर शर्म आनी चाहिए.

owaisi-will-now-fight-on-6-seats

उन्होंने कहा, ‘भारत हमारी मातृभूमि है और सभी को इसकी पूजा करनी चाहिए. हालांकि यह कहीं लिखा नहीं है न ऐसा कोई कानून है फिर भी हर नागरिक का कर्तव्य है कि वह मातृभूमि की पूजा करे.’

‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है’
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस बात पर बहस हो रही है कि देश की पूजा की जाए या नहीं. उन्होंने कहा, ‘ओवैसी को इस बात को कहते हुए शर्म आनी चाहिए कि वह भारत माता की जय नहीं कहेंगे.’

बता दें कि ओवैसी ने एक सभा के दौरान कहा था कि संघ नेताओं के कहने पर वो भारत माता की जय के नारे नहीं लगाएंगे. ओवैसी ने रविवार को सभा में कहा, ‘मैं भारत में रहूंगा पर भारत माता की जय नहीं बोलूंगा. क्योंकि यह हमारे संविधान में कहीं नहीं लिखा है कि भारत माता की जय बोलना जरूरी है. चाहे तो मेरे गले पर चाकू लगा दीजिए, पर भारत माता की जय नहीं बोलूंगा. मुझे मेरा संविधान इसकी आजादी देता है कि ऐसा कोई नारा न लगाऊं.’

‘अल्लाह ओवैसी को सदबुद्धि दें’
महाराष्ट्र सरकार में मंत्री सुधीर मुंगटीवार ने कहा कि हम यही दुआ करेंगे कि अल्ला ताला ओवैसी को सदबुद्धि दें . उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन ओवैसी के बयान की जांच करेगी. अभिव्यक्ति की आजादी को आधार बनाकर कोई भी बयान नहीं दिया जा सकता है.

मंत्री ने कहा- ओवैसी पर कार्रवाई करे सरकार
महाराष्ट्र सरकार में पर्यावरण मंत्री शिवसेना नेता रामदास कदम ने कहा, ‘ओवैसी कहते हैं कि भारत मां की जय नहीं कहूंगा, तो ये बहुत गंभीर बात है. ओवैसी पाकिस्तान चला जाए. उन्हें भारत में रहने का अधि‍कार नहीं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से कहूंगा कि इस बयान की वो जांच कराएं. ओवैसी पर सरकार कार्रवाई करे. उन्होंने कहा कि इस हरे सांप को दूध नहीं पिलाना चाहिए.’

संघ प्रमुख के बयान के विरोध में बोले ओवैसी
कुछ दिन पहले ही आरएसएस प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने कहा था कि देश में लोगों को भारत माता की जय बोलना सिखाया जाता है. जेएनयू में देशद्रोही नारेबाजी की घटना के सामने आने के बाद उन्होंने कहा था कि नई पीढ़ी को देश भक्ति की बातें सिखाई जानी चाहिए. ओवैसी ने संघ प्रमुख भागवत का विरोध करते हुए ये बातें कही. (Aaj Tak)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें