nawaz-earphone

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना बेस कैंप पर हुए आतंकी हमलें को कश्मीर में भारतीय सुरक्षा बलों के अत्याचार की प्रतिक्रिया बताया हैं.

शुक्रवार को लंदन में उन्होंने अपने बयान में कहा कि यह उन लोगों के गुस्से का परिणाम है जिनके नजदीकी लोग पिछले दो महीनों में कश्मीर में मारे गए या सुरक्षा बलों की कार्रवाई में आंखें खो बैठे.  इसके अलावा शरीफ ने ‘बिना किसी सबूत’ के पाकिस्तान पर आरोप लगाने के लिए भी भारत की आलोचना की.

इस बारें में उन्होने कहा,  ‘भारत कोई जांच किए बिना उरी घटना के चंद घंटों बाद पाकिस्तान पर आरोप कैसे लगा सकता है.’ उन्होंने आगे कहा, बिना जांच के हर मामले में पाकिस्तान को दोषी ठहराना भारत की आदत बन चुकी है. बिना सुबूत के आरोप लगाना उसकी गैर जिम्मेदाराना हरकत है.

शरीफ ने कहा, कश्मीर में भारतीय अत्याचार के बारे में सारी दुनिया जानती है. वहां पर 108 लोग मारे जा चुके हैं, 150 से ज्यादा अंधे हो चुके हैं और हजारों लोग घायल हैं. निर्दोष कश्मीरियों पर सैन्य बल ज्यादती कर रहे हैं.  शरीफ ने कहा कि जम्मू-कश्मीर विवाद के समाधान के बिना क्षेत्र में स्थाई शांति स्थापित करना असंभव है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें