maya1

सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर मचे घमासान में बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती भी शामिल हो चुकी हैं. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि सीमा पार सर्जिकल स्ट्राइक पर सिर्फ सेना का अभिनंदन और जयकार होनी चाहिए. इस सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर किसी पार्टी, नेता या फिर मंत्री की जयकार करना निंदनीय है.

मायावती ने अपने बयान में कहा कि वास्तव में लोगों की यह आशंका सही साबित होती जा रही है कि खासकर उत्तर प्रदेश विधानसभा आमचुनाव में अपनी पार्टी की खराब स्थिति के मद्देनज़र भाजपा व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार हिन्दू-मुस्लिम के बीच आपस में नफरत, तनाव व दंगा आदि फैलाकर वोटों का ध्रुवीकरण करने के साथ-साथ भारत-पाकिस्तान मामले पर उन्माद फैलाकर चुनाव को अपने पक्ष में प्रभावित करने का प्रयास ज़रूर करेग.  जैसा कि भाजपा ने  2014 के लोकसभा आमचुनाव के दौरान करके उसका चुनावी लाभ भी उठाया था.

मायावती ने कहा कि इसे लेकर बीजेपी राजनीति कर रही है और जान-बूझकर जगह-जगह पोस्टर लगवा रही है ताकि उसे आगामी विधान सभा चुनाव में राजनीतिक लाभ मिल सके. उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक सेना की बहादुरी का नतीजा है, नेताओं या किसी राजनीतिक दल की उपलब्धि नहीं.

बीजेपी पर प्रदेश के सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए मायावती ने कहा कि वो राजनीतिक फ़ायदे के लिए दंगे कराने की फ़िराक में है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें