shiv-sena

मुंबई | नोट बंदी पर मोदी सरकार की सहयोगी शिवसेना ने हमलावर रुख अपनाया हुआ है. शिवसेना पहले दिन से नोट बंदी के फैसले के खिलाफ दिख रही है. अब शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मोदी सरकार को 40 लोगो की मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए कहा की उरी में पाकिस्तान ने हमारे 20 जवानों को मारा था लेकिन नोट बंदी कर हमारे शासनकर्ताओ ने 40 लोगो को मार दिया.

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस नेता गुलाब नबी आजाद के बयान का समर्थन करते हुए लिखा की बीजेपी गुलाब नबी आजाद से माफ़ी की मांग कर रही है, लेकिन उससे क्या सच्चाई बदल जायेगी. सच्चाई यही है की केवल हमलावर बदले है. उरी में पाकिस्तान हमलावर था तो नोट बंदी में हमारे शासनकर्ता खुद.

और पढ़े -   खुद को बचाने के लिए नीतीश और सुशील मोदी के सामने नाक रगड़ रहे: लालू यादव

उद्धव ठाकरे ने आगे लिखा की आज नोट बंदी से 40 शूरवीर देश भक्त शहीद हो चुके है. सरकार इसको देश भक्ति बता रही है. आगे चलकर महंगाई, बेरोजगारी और मंदी से मरने वालो की संख्या 40 से 40 लाख भी हो जाए तो भी सरकार यही कहेगी की यह देश भक्ति से मरने वाले लोगो का बलिदान है. अगर ऐसे ही चलता रहा तो एक दिन पुरे देश को ही शहीद कहने की नौबत आ सकती है.

और पढ़े -   सपा नेता माविया अली का बयान, पहले हम मुस्लमान , फिर भारतीय

उधर उद्धव के भाई और मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने भी मोदी सरकार पर हमला बोला . राज ठाकरे ने कहा की एक तरफ पीएम मोदी गोवा में रोकर भावुक भाषण देते है और दूसरी तरफ शाम को शरद पंवार की तारीफे करते है. आप एक तरफ कालेधन को निकालने के लिए नोट बंदी का एलान करते है और दूसरी तरफ आपके नेता जनार्धन रेड्डी अपनी बेटी की शादी में 500 करोड़ रूपए खर्च करते है.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस बन गए 'पिकनिक डे' - शिवसेना

नोट बंदी से लोगो को हो रही परेशानी पर बोलते हुए राज ठाकरे ने कहा की आपके नोट बंदी के फैसले से बैंकों और एटीएम की लाइन में लग कर 40 लोग मर गए. क्या उन सभी लोगो के पास कालाधन था?


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE