mayawati-620x400maa

बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के मुद्दे पर भावुक होने पर कहा कि ”पीएम मोदी का बार बार इमोशनल होना, आंसू बहाना, ये पब्लिक को ब्‍लैकमैल करना नहीं हुआ तो क्‍या हुआ? पीएम ने अपना घर-परिवार देश के लिए छोड़ा है यह अच्‍छी बात है, पर इसका यह मतलब नहीं के वो देश के लोगों को परेशान करें.

उन्होंने आगे कहा ”नोटबंदी का फैसला केंद्र ने राजनीतिक लाभ लेने के लिए लिया. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को अपने लिए फैसले पर इतना डर सताया कि वे सदन में अपनी बात तक नहीं रख सके. मायावती ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के नेताओं को नोटबंदी का फैसला लेने से पहले ही सूचित किया गया था, ताकि वह अपना पैसा ठिकाने लगा सकें.

बसपा प्रमुख ने कहा कि जिस फैसले से देश की 90 प्रतिशत आबादी परेशान हो और मुशीबत में हाे, वह फैसला जनहित और राष्ट्रहित में नहीं हो सकता है. नोटबंदी का फैसला पूरी तरह से राजनीतिक स्वार्थों से प्रेरित है और उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर लिया गया है.

नोटबंदी को लेकर पैदा हुए हालात पर उन्होंने कहा, नोटबंदी को लेकर आम जनता की परेशानियों के कारण देश का माहौल उग्र होता जा रहा है. लगातार मौतें हो रही हैं. किसान दुखी है. इसके खिलाफ भी भाजपा शासित राज्यों में दमन का चक्र चलना शुरू हो गया है. ऐसे में अगर दंगे होते हैं तो सीधे तौर पर इसके जिम्मेदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होंगे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

Related Posts