नई दिल्ली। जेएनयू में देश विरोधी नारे मामले में अब कांग्रेस नेता शशि थरूर कूद पड़े हैं। देशद्रोह के आरोप में जेल जा चुके जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार का बचाव करते हुए थरूर ने उन्हें आज के दौर का भगत सिंह बताया। उन्होंने कहा कि देश को आज कान्हा की भी जरूरत है और कन्हैया की भी।

shashi_tharoor1

थरूर ने जेएनयू में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के दौर में राष्ट्रवाद इससे तय हो रहा है कि कोई शख्स ‘भारत माता की जय’ कहता है या नहीं। थरूर ने कहा कि मुझे ये नारे लगाने में खुशी होती है। लेकिन क्या ये नारे लगाने के लिए दूसरों को मजबूर करना सही है?   छात्रों को संबोधित करते हुए थरूर ने बीजेपी को जमकर खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि ये बीजेपी तय नहीं कर सकती है कि जो भारत माता की जय नहीं बोलेगा वो राष्ट्रवादी नहीं है। वो शख्स देश से प्यार नहीं करता है।

थरूर ने कहा कि देशद्रोह का आरोप देश के महान पुरुष बाल गंगाधर तिलक और जवाहर लाल नेहरू पर भी लगे थे। साफ शब्दों में कहें तो थरूर ने देशद्रोह कानून के मौजूदा स्वरूप को खत्म करने की वकालत की। थरूर ने आगे कहा कि लोगों के पास चुनाव का अधिकार होना चाहिए कि वो अपनी सोच और विचार के साथ लोकतंत्र में रह सकें। उन्होंने करीब 40 मिनट तक जेएनयू में छात्रों को संबोधित किया। (Live India)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें