बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनता दरबार में शिकायत सुनने के दौरान एक युवक ने मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंकी. जबकि पुलिस ने पहले कहा था कि मुख्यमंत्री पर कागज फेंका गया था. लेकिन अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया कि उनके ऊपर युवक ने कागज नहीं, बल्कि चप्पल फेंकी थी.

nitish_kumar_624x351_neerajsahai

नीतीश ने कहा कि पहले युवक ने मुझ पर गैर हिंदू होने का आरोप लगाया और पूछा कि आप हिन्दू नहीं हैं क्या ? वो सरकार की उस एडवाइजरी से नाराज था जिसमें सुबह 9 बजे के बाद से शाम 6 बजे तक खाना बनाने के लिए चूल्हा जलाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. सीएम ने कहा कि मैंने जूता फेंकने वाले युवक को माफ कर दिया है और डीजीपी से उसे छोड़ने को भी कहा है.

और पढ़े -   मोदी और आरएसएस चाहते हैं कि भारत अपनी आवाज ‘सरेंडर’ कर दे: राहुल गांधी

आरोपी युवक सीएम के पटना स्थित सीएम आवास में फरियाद लेकर पहुंचा था. जैसे ही दरबार शुरू हुआ, उसने मुख्यमंत्री पर कथ‍ित तौर पर चप्पल फेंकी , जो कुछ दूर जाकर गिर गई. इस घटना के फौरन बाद वहां मौजूद लोगों ने युवक को घेर लिया, जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया.

पटना के सीनियर एसपी ने बताया कि अरवल जिले का रहने वाले इस युवक का नाम भी नीतीश है.

और पढ़े -   ओवैसी की पार्टी राष्ट्रपति चुनाव में मीरा कुमार को देगी अपना समर्थन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE