मोदी सरकार द्वारा लाये गए पशुओं की खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने वाले कानून को लेकर बवाल मचा हुआ है. ऐसे में मेघालय में बीजेपी के कई नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है. जिसके चलते बीजेपी को मेघालय में गौमांस पर प्रतिबन्ध के फैसले से पीछे हटना पढ़ा है.

इसी बीच इस मुद्दें पर चर्चा के दौरान केन्द्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता एम.वेंकैया नायडू ने बड़ा ब्यान देते हुए कहा कि वह खुद नॉन- वेजीटेरियन हैं इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फूड हर किसी व्यक्ति की च्वॉइस का मामला है. नायडू ने इससे साफ इंकार किया कि भाजपा सभी को शाकाहारी बनाना चाहती है.

नायडू ने कहा कि कुछ पागल लोग ऐसी बातें करते रहते हैं कि भाजपा सभी को शाकाहारी बनाना चाहती है, यह लोगों की पसंद है कि वे क्या खाना चाहते हैं और क्या नहीं. उन्होंने कहा,  मैं हैदराबाद में था प्रदेश अध्यक्ष था और मांसाहारी भी हूँ, फिर भी पार्टी अध्यक्ष बना.

आपको बता दें कि केन्द्र सरकार ने हाल ही में एक आदेश जारी कर मवेशी बाजार में वध के लिए पशुओं के क्रय-विक्रय पर रोक लगा दी है. सरकार के इस फैसले का केरल, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु समेत कई राज्यों में विरोध हुआ.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE