विवादों में रहने वाले हरियाणा के मंत्री अनिल विज का एक और बयान सुर्ख़ियों में है. जिसमे उन्होंने कहा कि कोई हिंदू आतंकवादी नहीं हो सकता. हिंदू आतंकवाद की तरह का कोई भी शब्द नहीं है.

2007 में हुए समझौता ब्लास्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि उस समय जो लोग पाकिस्तान के थे उन्हें छोड़ दिया गया और भारतीय लोगों को पकड़ कर उन्हें हिंदू आतंकी करार दे दिया गया. विज ने कहा, यह बस राजनीतिक लाभ के लिए है. हिंदू आतंकवाद जैसा कुछ नहीं होता. हिंदू अपने स्वभाव की वजह से कभी आतंकी नहीं हो सकता. राजनीतिक वजहों से मुस्लिम आतंकियों के जवाब में कांग्रेस हिंदू आतंकवाद जैसे शब्द गढ़ना चाहती है.

विज के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस महसचिव दिग्व‍िजय सिंह ने कहा, ‘अनिल विज ने सही फरमाया है, संघी आतंकवाद होता है, हिंदू आतंकवाद कभी नहीं होता. केवल संघ आतंकवादी है, हिंदू नहीं.’ उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई विचारधारा की है, व्यक्ति की नहीं.

गौरतलब है कि हिंदू आतंक शब्द का इस्तेमाल पहली बार इस्तेमाल पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने 2008 में मालेगांव ब्लास्ट के सिलसिले में साध्वी प्रज्ञा, कर्नल पुरोहित, असीमानंद जैसों की गिरफ्तारी के बाद किया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE