arvind-kejriwal-650_650x400_61450709620

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक प्रेस कान्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि “मोदी जी आप से हाथ जोड़कर विनती है कि आपकी लड़ाई मेरे साथ है, मुझे मार लो पीट लो, लेकिन दिल्ली के लोगों को परेशान मत करो”

केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों के ऑफिस ऑफ प्रॉफिट को लेकर प्रेस कान्फ्रेंस की थी जिसमे उन्होंने अपने विधायकों का बचाव करते हुए कहा कि इससे पहले कांग्रेस और बीजेपी की सरकारों ने भी संसदीय सचिव बनाए थे. विपक्ष ‘लाभ के पद’ का हवाला देते हुए इन 21 विधायकों की सदस्यता को रद्द करने की मांग कर रहा है. उन्होंने आगे कहा  “2014 तक भाजपा और कांग्रेस संसदीय सचिव बनते थे तो संवैधानिक था और आम आदमी पार्टी ने बनाए तो अंसवैधानिक हो गया.”

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार इन 21 संसदीय सचिवों के ज़रिए अपने विकास कार्यों को कर रही हैं और सरकार से बिना कोई पैसा लिए ये लोग दिल्ली में घूम घूम बताते हैं कि कहां काम करने की ज़रूरत है. लेकिन कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि संसदीय सचिव का काम सिर्फ़ विधायिका संबंधी कार्य में मदद करना होता है. केजरीवाल के मुताबिक दिल्ली में संसदीय सचिव बनाने का सिलसिला 1953 से चलता चला आ रहा है, जब एचकेएल भगत को संसदीय सचिव बनाया गया था।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें