mamata-banerjee-lucknow-647_112916052416

लखनऊ | पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नोट बंदी के बाद से ही इस फैसले के विरोध में रही है. वो जगह जगह इसको लेकर विरोध प्रदर्शन भी कर रही है. सोमवार को बंगाल में सडको पर उतर उन्होंने नोट बंदी का विरोध किया तो मंगलवार को वो लखनऊ विरोध प्रदर्शन करने पहुंची. इस दौरान उन्होंने मोदी को तानाशाह बताते हुए कहा की यह देश किसी एक आदमी की मर्जी से नही चलेगा.

लखनऊ के 1090 चौराहे पर आयोजित रैली में बोलते हुए ममता बनर्जी ने कहा की यह आजादी की लड़ाई है और वो इसे पुरे देश में लड़ेंगी. ममता ने कहा की नोट बंदी से लोगो के संवैधानिक अधिकारों का हनन किया जा रहा है. जिस तरह से लोगो के ऊपर पाबंदी लगाईं जा रही है वो गलत है. ऐसा तो आपातकाल के दौर में भी नही हुआ था. ममता ने इस लड़ाई में लोगो से जुड़ने का आह्वान किया.

ममता ने मोदी की तुलना हिटलर से करते हुए कहा की अब अगर किसी गरीब को अपनी बेटी की शादी करनी है तो पहले मोदी के पैरो में जाकर गिड़गिड़ाना होगा. आप अपने विधायको और सांसदों से हिसाब किताब मांगते हो. सबसे पहले आप और आपके अध्यक्ष अमित शाह को अपने खातो की डिटेल देनी चाहिए. आप नकाब ओढ़कर बीजेपी, आरएसएस , बजरंग दल के पैसे नोट बंदी से पहले विदेश भेज देते हो. आपके अध्यक्ष और बीजेपी के नाम से देश भर में जमीन खरीदी जाती है.

ममता बनर्जी ने नोट बंदी को वापस लेने की अपनी मांग दोहराते हुए कहा की मोदी जी या तो नोट बंदी वापस लो या आप वापस जाओ. लखनऊ में रैली को आयोजीत करने और रैली में अपने मंत्रियो को भेजने के लिए ममता ने मुख्यमंत्री अखिलेश का धन्यवाद करते हुए कहा की अब हम और समाजवादी पार्टी एक है. पूरा विपक्ष इस मामले में साथ खड़ा है. उत्तर प्रदेश ने हर लड़ाई में देश का नेतृत्व किया है . इस लड़ाई में भी आप आगे आये.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें