swami

बसपा छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले नेता स्वामी प्रसाद मौर्य बसपा सुप्रीमो मायावती को चुनाव के टिकट बेचने वाली ‘भ्रष्टाचार की देवी’ बताया हैं.

मौर्य ने कहा कि मायावती दलितों की देवी होने का दावा करती हैं लेकिन उन्होंने भ्रष्टाचार के सारे मानक तोड़ दिये हैं इसलिए वह दलितों की नहीं भ्रष्टाचार की देवी हैं. उन्होंने आगे कहा, भाजपा कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि उन्होंने 20 साल तक बसपा की सेवा की, लेकिन हमेशा मायावती को केवल भ्रष्टाचार का सबक सीखते देखा.

उन्होंने कहा कि टिकट देते वक्त दान के नाम पर उम्मीदवारों से करोड़ों रूपये ऐंठने वाली मायावती खुद को दलितों की देवी कहती हैं. जिन कार्यकर्ताओं ने नि:स्वार्थ भाव से बसपा की सेवा की वे अब बंधुआ मजदूर की तरह काम करने और जिल्लत सहन करने को मजबूर हैं.

मौर्य ने कहा कि खुद को दलितों की बेटी कहने वाली मायावती इन्हीं दलितों पर होने वाले जुल्म के बारे में कुछ नहीं बोलती. गौरतलब रहें कि गत सोमवार को स्वामी प्रसाद मौर्य भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें