नयी दिल्ली | बीजेपी के राज्यसभा सांसद और तेज तर्रार नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अब अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली के धुर विरोधी स्वामी ने एक जुलाई से जीएसटी लागु करने की सरकार की योजना पर सवाल खड़े करते हुए कहा की यह देश के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है इसलिए इसे 2019 तक टाल देना चाहिए.

स्वामी ने सरकार के इस कदम को आत्मघाती बताते हुए कहा की अगर अभी जीएसटी लागू किया गया तो यह वाटरलू साबित होगा. अभी हाल ही में देश की अर्थव्यवस्था को लेकर आई रिपोर्ट में जीडीपी की दर में गिरावट आने के बाद स्वामी ने ट्वीट कर बताया की उन्होंने प्रधानमंत्री को इस बारे में पहले ही आगाह कर दिया था. हालाँकि उन्होंने कहा की अभी भी अर्थव्यवस्था को सुधारा जा सकता है.

स्वामी ने ट्वीट कर कहा,’ मैंने एक महीने पहले ही प्रधानमंत्री मोदी को एक 16 पन्नो की चिट्ठी लिखी थी , इसमें मैंने उन्हें जीडीपी और अर्थव्यवस्था में गिरावट को लेकर 5 संकेतो के बारे में बताया था. हालाँकि मैं मानता हूँ की अभी भी अर्थव्यवस्था को सुधारा जा सकता है.’ अपने दुसरे ट्वीट में स्वामी ने जीएसटी को टालने का आग्रह करते हुए कहा की अभी के आर्थिक हालत और पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा के सुझावों को देखते हुए जीएसटी को 2019 तक टाल देना चाहिए.

स्वामी ने जीएसटी को लेकर भविष्यवाणी करते हुए कहा की अगर इस अभी नही टाला गया तो यह वाटरलू साबित होगा. बताते चले की वाटरलू युद्ध में अजेय नेपोलियन की हार हो गयी थी. उधर पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने जीडीपी में आई गिरावट पर मोदी सरकार को आलोचना करते हुए कहा की मैंने पहले ही भविष्यवाणी की थी जुलाई से अर्थव्यवस्था में गिरावट हो रही है. लेकिन इसमें सुधार की बजाय सरकार ने असाधारण मूर्खतापूर्ण फैसला लेते हुए नोट बंदी करने का फैसला किया.

और पढ़े -   वोट मांगने पहुंचे बीजेपी नेता मनोज तिवारी पर लोगों ने किया पत्थर से हमला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE