azam

उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने समाजवादी पार्टी द्वारा मुसलमानों को आरक्षण  देने के कथित वादें पर आज विधानसभा में कहा कि समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों को उनकी आबादी के अनुपात में 18 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा कभी नहीं किया था.

आजम ने कहा, ’’समाजवादी पार्टी ने 2012 में हुए विधानसभा चुनाव के घोषणापत्र में मुसलमानों को 18 प्रतिशत आरक्षण का वादा कतई नहीं किया था, जब तक संविधान नहीं बदला जाता तब तक 18 प्रतिशत तो क्या अल्पसंख्यको को 0.18 प्रतिशत आरक्षण भी नहीं दिया जा सकता.’

और पढ़े -   प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी में बोले राहुल - नए रोजगार देने में पूरी तरह फ़ैल रही मोदी सरकार

नेता प्रतिपक्ष गयाचरण दिनकर द्वारा मुसलमानों को 18 प्रतिशत आरक्षण देने के वादे पर बेवकूफ बनाये जाने की टिपण्णी करने पर आजम ने कहा कि मुसलमान अब जागरूक हो गये है और उन्हें भावनात्मक मुद्दो पर बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता ्र आजम ने कहा ’’मुसलमान बच्चे अब कन्चे नहीं कंप्यूटर पर खेलने लगे हैं.

उन्होंने कहा कि मुसलमानों को अब पहले की बातें भी मालूम हो गयी है कि किस तरह बसपा ने तीन बार भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई और मायावती ने गुजरात में नरेंद्र मोदी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया

और पढ़े -   महिला आरक्षण बिल: सोनिया की पीएम मोदी को चुनौती, लोकसभा में है बहुमत पास करवा कर दिखाए

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE