देश में हो रही गौरक्षा के नाम पर हत्याओं को लेकर समाजवादी पार्टी सांसद नरेश अग्रवाल की एक टिप्पणी से राज्यसभा में बुधवार को हंगामा मच गया.

उन्होंने संघ परिवार को निशाने पर लेते हुए कहा कि कुछ लोग हिंदू धर्म के ठेकेदार बन गए हैं, भाजपा और वीएचपी जैसे लोग कहते थे कि जो हमारा सर्टिफिकेट नहीं लेकर आएगा, वो हिंदू नहीं हैं.

उन्होंने कहा, ‘मुझे याद है कि 1991 में राम जन्मभूमि का जब आंदोलन चल रहा था, तो उस समय जनता के बीच मुझे भी सफाई देनी पड़ती थी, हम एमएलए का चुनाव लड़ रहे थे.बीजेपी के कुछ ठेकेदार थे जो खुद को बीजेपी और वीएचपी का बताते थे. वह कहते थे जो हमारा सर्टिफेकेट लेकर नहीं आए, वह हिंदू नहीं है.

इस टिप्पणी को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली और अनंत कुमार बुरी तरह से भड़क गए. उन्होंने अग्रवाल से तुरंत माफी की मांग की. साथ कहा कि अग्रवाल ने हर हिंदू भगवान को शराब से जोड़ा है. इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. इसके बाद उपसभापति ने भी इन शब्दों पर सफाई मांगी. अग्रवाल ने कहा, ‘आप देख लीजिए कुछ असंसदीय है तो उसे हटा दीजिएगा.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE